स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कोटा में बिजली कम्पनी अब पहुंचाएगी पानी

Rajesh Tripathi

Publish: Sep 18, 2019 19:44 PM | Updated: Sep 18, 2019 19:44 PM

Kota

चंबल पार क्षेत्र, नयापुरा, खाई रोड, खेड़लीफाटक, बजरंगनगर, स्टेशन क्षेत्र सहित
अन्य क्षेत्रों में टैंकरों से जलापूर्ति कर लोगों को राहत पहुंचाई जाएगी।

 

कोटा. बिजली व्यवस्था को पटरी पर लाने के साथ ही पानी की किल्लत से जूझ रहे शहरवासियों की मदद के लिए केईडीएल जलापूर्ति न होने के कारण प्रभावित इलाकों में टैंकर से पानी सप्लाई करेगी। सकतपुरा मिनी अकेलगढ़ के इंटेकवेल के पाइप व पंप क्षतिग्रस्त हो जाने से आधे शहर में पिछले कई दिनों से व्याप्त जल संकट से लोगों को हो रही भारी परेशानी को देखते हुए केईडीएल ने प्रभावित क्षेत्रों में टैंकरों से जलापूर्ति कर लोगों की प्यास बुझाने का निर्णय लिया है। चंबल पार क्षेत्र, नयापुरा, खाई रोड, खेड़लीफाटक, बजरंगनगर, स्टेशन क्षेत्र सहित अन्य क्षेत्रों में जहां लोगों को पानी के लिए परेशानी हो रही है, वहां टैंकरों से जलापूर्ति कर लोगों को राहत पहुंचाई जाएगी। केईडीएल के सीओओ मुकेश गर्ग ने बताया कि बुधवार से प्रभावित क्षेत्रों में केईडीएल की ओर से नियमित 10 टैंकरों से जलापूर्ति का कार्य शुरू किया जाएगा। इनमें से पांच टैंकर चंबल पार क्षेत्र में तथा पांच टैंकर नयापुरा से स्टेशन क्षेत्र तक के इलाकों में जलापूर्ति करेंगे।

निकाय लॉटरी..महापौर और उपमहापौर समेत
कई नेताओं को
बदलनी पड़ेगी सियासी जमीन

सकतपुरा स्थित 130 एमएलडी प्लांट से रहेगी जलापूर्ति बाधितअकेलगढ़ का सहारा, अन्य क्षेत्र भी होंगे प्रभावित

कोटा.चंबल में बाढ़ के चलते सकतपुरा स्थित 130 एमएलडी जलशोधन केन्द्र के चारों पंप खराब हो चुके हैं। जिन कॉलोनियों में यहां से जलापूर्ति होती है, वहां सप्लाई नहीं होगी। जलदाय विभाग के अधिशासी अभियंता सोमेश मेहरा ने बताया कि जब तक सकतपुरा से जलापूर्ति सुचारू नहीं होगी, अकेलगढ़ से सप्लाई की जाएगी। अकेलगढ़ में जलशोधन का भार बढने से इस प्लांट से जिन इलाकों में दो परियों में जलापूर्ति की जा रही है, उन इलाकों में कटौती कर एक पारी में जलापूर्ति की जाएगी। इससे पूर्व सोमवार को नाग-नागिन मंदिर के पास पुानी लाइन को अकेलगढ़ से जोडऩे के बाद कुछ कॉलोनियों में सप्लाई दी गई। इसके अलावा प्रभावित इलाकों मेें टैंकरों से भी जलापूर्ति जारी रही। अधीक्षण अभियंता राकेश कुमार के अनुसार सकतपुरा के पंपों को जल्द दुरुस्त करवाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

Live Update : 48 घंटों से टापू पर फंसे दो युवकों को रेस्क्यू
कर निकाला, आधा दर्जन कच्चे मकान गिरे

एमपी के मुख्य अभियंता बोले, गांधीसागर बांध पूरी तरह सुरक्षित

मंदसौर. गांधीसागर बांध में पानी का लेवल अब सामान्य हो गया है और 5 गेट बंद कर दिए हैं। बांध के सभी गेट शनिवार सुबह 5 बजे से लगातार खुले हुए थे। बांध का निरीक्षण जल संसाधन विभाग के भोपाल मुख्यालय से प्रमुख अभियंता, मुख्य अभियन्ता डिजाइन, संचालक बांध सुरक्षा द्वारा किया गया। निरीक्षण के बाद मुख्य अभियंता इंदौर ने बताया कि बांध पूरी तरह से सुरक्षित है। यह भी बताया गया कि दिल्ली से जल शक्ति विभाग का एक्सपर्ट दल बांध का निरीक्षण करेगा।
बढ़ सकती है मुश्किल, अब चारों पंप खराब