स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बरतें सावधानी, नहीं तो जकड़ सकती है ये बीमारी...कोटा में बाढ़ का पानी उतरने लगा,बढ़ा खतरा

Suraksha Rajora

Publish: Sep 18, 2019 20:47 PM | Updated: Sep 18, 2019 20:47 PM

Kota

kota flood निचली बस्तियों में भरा बाढ़ का पानी अब उतरने लगा, पानी के साथ हवा भी दूषित

कोटा. निचली बस्तियों में भरा बाढ़ का पानी अब उतरने लगा है। ऐसे में प्रदूषण और संक्रमण से अनेक तरह की बीमारियां होने की आशंका रहती है। चिकित्सकों की मानें तो इस समय पानी के साथ हवा भी दूषित हो जाती है। लिहाजा रोगों के जीवाणु सीधे शरीर में प्रवेश कर फ्लू, जुकाम व ब्रोंकाइटिस जैसे रोगों को जन्म देते हैं। दस्त, हैजा, टाइफाइड, और फूड पॉइजनिंग जैसी परेशानियां भी हो सकती हैं।


संक्रमित पानी इस्तेमाल न करें

शनि आज से सीधे मार्ग पर चलेंगे,अच्छे दिन आएंगे,149 साल बाद बन रही है शनि की केतु से युति, महासंयोग

बाढ़ के दौरान पानी की समस्या हुई तो कुछ लोग सीधे चम्बल से पानी लेकर पीते हुए देखे गए। चिकित्सकों के अनुसार बाढ़ का पानी प्रदूषित और संक्रमित होता है। इससे हैजा, उल्टी, दस्त और बुखार ही नहीं आंतो में सूजन तक आ सकती है। इसके साथ ही एलर्जी, त्वचा रोग, आदि की भी आशंका होती है। भरे हुए पानी में मच्छर पनपने लगते हैं। इससे डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया हो सकता है। मच्छरों से बचें और शरीर को ढंककर रखें।

यह भी जरूरी
- नियमित रूप से अपने हाथों को धोएं, विशेष रूप से खाने से पहले

- बाढ़ के पानी के संपर्क में आए भोजन का सेवन कभी न करें
- कटे फल-सब्जियां खाने से बचें

- उबला या ताजी पानी ही पीएं
- बासी खाने से परहेज करें

- बाहर खुले में खाना न खाएं।
- बाहर मिलने वाली खाद्य सामग्री का प्रयोग न करें

- बच्चों को साफ-सफाई से रखें।
- हल्का भोजन करें और साफ पानी ही पीएं।

- बाढ़ कम होते ही गंदे पानी को पूरी तरह साफ कर दें।
- घर में जब तक पूरी तरह पानी न निकल जाएं वहां न रहें।

- नमी वाले स्थानों से अपने को बचाएं।
- कूड़ा, स्लम की चीजों को तत्काल हटाएं।

डॉ. मनोज सलूजा, सीनियर फिजिशियन,न्यू मेडिकल कॉलेज