स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

टीम पर हमला कर ले गए बजरी से भरी ट्रॉली

Anil Sharma

Publish: Dec 08, 2019 10:30 AM | Updated: Dec 07, 2019 22:53 PM

Kota

बजरी का अवैध खनन कर ले जा रहे थे, वन विभाग ने पकड़ा, बाद में जीप आए आरोपी...

इटावा. इटावा थाना क्षेत्र के डडवाड़ा गांव के पास नोनेरा रोड पर शुक्रवार रात्रि को अवैध रूप से लाई जा रही बजरी से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली पकडने पर जीप में आए खनन माफिया के करीब आधा दर्जन लोगों ने वन विभाग की टोली पर हमला कर दिया और ट्रॉली को छुड़ा कर ले गए। हमले में तीन वनकर्मी घायल हुए हैं।
थानाधिकारी मुकेश मीणा ने बताया कि साजिद अली पुत्र अब्दुल लतीफ सहायक वनपाल इटावा ने रिपोर्ट दी कि शुक्रवार देर रात वे चतुर्भुज शर्मा, राकेश कुमार, चंद्रप्रकाश नागर, बृजमोहन व जीप चालक के साथ इटावा रेंज में अवैध खनन पर निगरानी के लिए गश्त कर रहे थे। इसी दौरान देर रात करीब पौने दस बजे डड़वाडा के पास नोनेरा रोड पर पहुंचे तो सामने से बजरी से भरी एक बिना नंबर की ट्रैक्टर -ट्रॉली आई। वनकर्मी ट्रॉली चालक से पूछताछ करने लगे तो वह ट्रॉली छोड़कर भाग गया। इसके बाद नोनेरा निवासी गौरीशंकर के साथ कार में आए करीब आधा दर्जन लोगों ने वनकर्मियों पर हमला कर दिया और मारपीट कर टै्रक्टर ट्रॉली छुड़ाकर ले गए।

पुलिस ने किया मामला दर्ज

इस घटना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची व घायल वनकर्मियों को इटावा चिकित्सालय लाकर उपचार कराया। पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
वन विभाग के अधिकारी देवीशंकर मीणा ने बताया कि वनकर्मी राकेश के हाथ में फ्रैक्चर है व पैर में चोटें आई है। इसके अलावा ब्रजमोहन व चन्द्रप्रकाश भी घायल हुए। अस्पताल में उपचार के बाद इन्हें छुट्टी दे दी गई। इटावा थाने में आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया है। उल्लेखनीय है इटावा क्षेत्र में नोनेरा व उसके आस-पास चंबल नदी में घडिय़ाल अभयारण्य में अवैध खनन होता है। रोजाना बजरी निकाल कर माफिया के लोग अन्यत्र बेचने के लिए ले जा रहे हैं।

read more : अर्धवार्षिक परीक्षा समय में परिवर्तन, कल से बटेंगे पेपर...

[MORE_ADVERTISE1]