स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अब शिक्षकों के भी बनेंगे पहचान पत्र

Suraksha Rajora

Publish: Jan 25, 2020 06:00 AM | Updated: Jan 24, 2020 20:49 PM

Kota

जिले में आठ हजार से अधिक शिक्षक होंगे लाभाविंत

कोटा. सरकार अब सभी सरकारी स्कूलों में कार्यरत शिक्षकों के परिचय पत्र बनवाने जा रही है। इसके लिए शिक्षा विभाग में कवायद शुरू हो गई है। इस संबंध में राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद के राज्य परियोजना निदेशक ने सभी एडीपीसी को गाइड लाइन जारी की है। इससे सरकारी स्कूलों के शिक्षकों की पहचान सुनिश्चित होगी।

कोटा जिले में करीब आठ हजार शिक्षक लाभाविंत होंगे। शिक्षक व संस्था प्रधानों को दिए जाने वाला परिचय पत्र जिला कार्यालय की ओर से तैयार कर उपलब्ध करवाया जाएगा। शिक्षा विभाग ने यह अच्छी पहल की है। यह पहचान पत्र इसी सत्र में जारी होंगे।

- पूरा होगा विवरण

परिचय पत्र में शिक्षकों व संस्था प्रधानों का पूरा विवरण होगा। मुख्य पृष्ठ पर शिक्षक का रंगीन फोटो, नाम, पद, जन्मतिथि के साथ स्कूल का नाम मय जिला, ब्लॉक, ग्राम, यू डाइस कोर्ड अंकित किया जाएगा। मुख्य पृष्ठ के अंत में जानकारी को सत्यापित करने के लिए परिचय पत्र जारी करने वाले अधिकारी का पदनाम सहित हस्ताक्षर अंकित होंगे।

परिचय पत्र के पृष्ठ भाग में पिता या पति का नाम, कार्मिक आईडी, ब्लड गु्रप, घर का स्थायी पता, मोबाइल नम्बर के साथ राजकीय सेवा में प्रथम नियुक्ति तिथि आदि अंकित होगी। यह सब रिकॉर्ड कर्मचारी की सर्विस बुक के अनुसार होगा।

- यह जारी होगा बजट

गाइड लाइन के मुताबिक कोटा जिले में प्राथमिक शिक्षा के 3449 शिक्षक है। उनके आईडी कार्ड के लिए 1.725 लाख रुपए व माध्यमिक शिक्षा के 4579 शिक्षकों के लिए 2.290 कुल 80281 शिक्षकों के आईडी कार्ड के लिए 4.014 लाख रुपए की राशि जारी की जाएगी।

- इनका यह कहना

- सभी सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के पहचान पत्र जारी किए जाएंगे। इसके लिए गाइड लाइन मिल चुकी है। यह पहचान पत्र कार्यालय की ओर से जारी होंगे। इसके लिए टेंडर प्रक्रिया अपनाई जाएगी।

- गंगाधर मीणा, एडीपीसी, समग्र शिक्षा अभियान

[MORE_ADVERTISE1]