स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ऐसी परिस्थितियों से गुजरना पड़ता है एक महिला को, देख कर दंग रह गई बालिकाएं

Suraksha Rajora

Publish: Jan 24, 2020 20:11 PM | Updated: Jan 24, 2020 20:11 PM

Kota

National Girl Child Day बालिकाओं ने देखी खुद के संघर्ष की कहानी

कोटा. राष्ट्रीय बालिका दिवस पर महिला अधिकारिता विभाग, अक्षम कल्याण संस्थान एवं ह्यूमन हेल्पलाईन के संयुक्त तत्वाधान में शुक्रवार को आइनॉक्स सिनेमॉल में जिले के विभिन्न सरकारी स्कूलों एवं छात्रावास की लगभग 300 बालिकाओं के साथ छपाक मूवी देखी गई।

डीसीएम रोड़ स्थित आईनोक्स सिनेमा हॉल में प्रात: 9 बजे से प्रारंभ हुए शॉ से पूर्व कार्यक्रम की मुख्य अतिथि संभागीय आयुक्त एल एन सोनीए जिला कलक्टर ओम कसेराए पुलिस अधीक्षक शहर दीपक भार्गव, समाज सेविका डॉ. एकता धारीवाल ने शांति सद्भावना एवं बालिका सुरक्षा का संदेश देते हुए 101 गैस बलून आसमान में छोडें।

छपाक मूवी देखते समय नायिका के संघर्ष के दृश्य के समय स्कूली बालिकाओं ने खूब तालियां बजाते हुए लुफ्त उठाया। बालिकाओं ने जहां मूवी की सराहना की वहीं अतिथियों के साथ सेल्फी भी ली। महिला अधिकारिता विभाग की ओर से सभी बालिकाओं को कॉफी मग उपहार स्वरूप भेंट किया गया।


इस अवसर पर महिला अधिकारिता विभाग के उप निदेशक मनोज कुमार मीणा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उप निदेशक ओम तोषनीवाल, ह्यूमन हेल्पलाईन के अध्यक्ष मनोज जैन आदिनाथ सहित समाजसेवी, छात्रावासों के अधीक्षक और स्कूली अध्यापक उपस्थित रहे।

[MORE_ADVERTISE1]