स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

1 अक्टूबर से लागू होगें ई-लेखा, ई.कुबेर पोर्टल

Suraksha Rajora

Publish: Sep 19, 2019 21:20 PM | Updated: Sep 19, 2019 21:20 PM

Kota

कोषाधिकारी ने बताये ये फायदे ,कहा कोषालय पूर्णतया पेपरलेस कोष कार्यालय की दिशा में आगे बढेगा

कोटा. आहरण वितरण अधिकारियों का ई.लेखाए ई. कुबेर एवं ऑन लाईन मिलान अंक मिलान का प्रशिक्षण दो सत्रों में गुरूवार को कलेक्ट्रेट के टैगोर हॉल में जिला कलक्टर मुक्तानंद अग्रवाल की अध्यक्षता में आयोजित किया गया।


जिला कलक्टर ने सभी आहरण वितरण अधिकारियों को निर्देशित किया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार कोषालय के सभी कार्यो को ऑनलाईन किया जा रहा है। साथ ही पारदर्शिता के साथ समयबद्ध भुगतान की प्रकिया प्रभावी रूप से सुनिश्चित की जावे। उन्होंनें सभी विभागों के आहरण वितरण अधिकारियों को प्रशिक्षण को पूरी गंभीरता से लेने की बात कही हैं।

उन्होंने कहा कि यदि किसी भी प्रकार की कोई शंका या समस्या हो तो उसे कोषाधिकारी को पत्राचार के माध्यम से अवगत कराया जाये तथा कोषाधिकारी को भी निर्देशित किया कि वे डीडीओं की समस्या को तत्परता से लेकर उसका समयबद्ध निस्तारण करना सुनिश्चित करें।


कोषालय का कार्य होगा पेपरलेस

प्रशिक्षण कार्यक्रमों को सम्बोधित करते हुए कोषाधिकारी जय कौशिक ने कहा कि ई.लेखा, ई. कुबेर एवं ऑन लाईन मिलान अंक मिलान का कार्य आगामी 1 अक्टूबर 2019 से जिले में प्रभावी होने जा रहे हैं जिससे कोष कार्यालय में बिल पारित वास्ते आहरण वितरण अधिकारियों के माध्यम से डिजीटल हस्ताक्षर के माध्यम से ऑन लाईन कोषालय को प्रेषित किये जायेंगे। उन्होने कहा कि डीडीओं द्वारा भिजवाये गये ऑनलाईन बिल को की एक प्रति डीडीओं अपने कार्यालय प्रति के रूप में रखकर संधारित करेंगे।

जिससे आने वाले समय में कोषालय पूर्णतया पेपरलेस कोष कार्यालय की दिशा में आने बढेगा। उन्होंने कहा कि ई.लेखाए ई.कुबेर एवं ऑन लाईन अंक मिलान की प्रक्रिया प्रभावी होने से नियोजित समय, स्टेशनरी व्यय, यात्रा भत्ता एवं मानवीय समय में कमी आयेगी।


प्रशिक्षण कार्यक्रम में कोषाधिकारी जय कौशिक ने डीडीओं के शंका और समस्याओं का मौंके पर ही ऑनलाईन पे मैनेजर सिस्टम एवं ई.कुबेर के पोर्टल पर संजीव समाधान किया।

मास्टर ट्रेनर अनिल शर्मा, प्रवीण सुमन,कुलदीप नागर, अजय जैन ने पावर पोईंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से ई.लेख, ई.कुबेर और ऑन लाईन अंक मिलान का संयुक्त रूप से प्रशिक्षण दिया ।