स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कोटा में डेंगू व स्क्रब टाइफस जैसी ख़तरनाक बीमारियां कर रही तांडव,सेम्पल लेने में लैब को आ रहा बुखार

Suraksha Rajora

Publish: Nov 12, 2019 17:36 PM | Updated: Nov 12, 2019 17:36 PM

Kota

सीएमएचओ ने रिपोर्ट देरी से मिलने पर उठाए सवाल

कोटा . मौसमी बीमारियों के कहर के बीच नए अस्पताल में डेंगू रिपोर्ट में लेटलतीफी सामने आई है। रिपोर्ट को लेकर दो विभाग आमने-सामने हो गए। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बीएस तंवर ने बताया कि शहर में डेंगू का प्रकोप होने के बावजूद नए अस्पताल में मरीजों के रोजाना सेम्पल नहीं लग रहे।

सहकारिता मंत्री का जिला भी किसानों को ऋण बांटने में फिसड्डी,सहकारी बैंकों ने भींची मुट्ठी

दो दिन में एक बार सेम्पल लग रहे हैं। इससे मरीजों की संख्या बढ़कर आ रही है। समय पर रिपोर्ट भी नहीं मिल पा रही है। नए अस्पताल में 10 व 11 नवम्बर के एक साथ 87 सेम्पल लगे। इसमें से 20 डेंगू पॉजीटिव सामने आए हैं।


उधर, नए अस्पताल के लैब इंचार्ज डॉ. दिनेश वर्मा ने बताया कि वैसे अस्पताल में रोजाना डेंगू मरीजों के सेम्पल लग रहे हैं, लेकिन रविवार को छुट्टी का दिन होने व तकनीशियन की कमी के कारण नहीं लग पाते, जबकि कई बार शाम व रात को देरी से सेम्पल आने के कारण मरीजों के सेम्पल नहीं लग पाते है। ऐसे में उन्हें दूसरे दिन सेम्पल लगाने पड़ रहे हैं।


31 डेंगू व 4 स्क्रब टायफस मरीज आए
शहर में डेंगू का प्रकोप बना हुआ है। रोजाना बड़ी संख्या में मरीज सामने आ रहे हैं। चिकित्सा विभाग के अनुसार, सोमवार को डेंगू के 31 व स्क्रब टायफस के चार मरीज सामने आए।

इनमें अनंतपुरा-महावीर नगर के तीन-तीन, शोपिंग सेंटर, भीमगंजमंडी, कुन्हाड़ी, गोविंद नगर, नयागांव, सुल्तानपुर, इटावा में दो-दो, टिपटा, बोरखेड़ा, सक तपुरा, बापू बस्ती, केशवपुरा, सांगोद से एक-एक डेंगू पॉजीटिव आए हैं, जबकि कुन्हाड़ी, रंगबाड़ी, बोरखेड़ा, बोरीनाकला सांगोद से एक-एक स्क्रब टायफस मरीज आए।

[MORE_ADVERTISE1]