स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भाजपा का कांग्रेस पर पलटवार: विधायक संदीप बोले-मोदी की आंधी में उड़ जाएगी कांग्रेस

Zuber Khan

Publish: Oct 21, 2019 08:30 AM | Updated: Oct 21, 2019 01:01 AM

Kota

Body elections 2019: BJP, Congress: नगर निगम चुनाव को लेकर कांग्रेस और भाजपा अपनी जीत के दावे करने से पीछे नहीं हट रहे।

कोटा. कोटा उत्तर नगर निगम ( Body elections 2019 ) और कोटा दक्षिण नगर निगम चुनाव को लेकर कांग्रेस और भाजपा में घमासान शुरू होने में छह माह का समय है, ( Congress And BJP ) लेकिन दोनों दल अपनी जीत के दावे करने से पीछे नहीं हट रहे। कोटा दक्षिण के विधायक संदीप शर्मा ( MLA Sandeep Sharma ) ने पत्रिका से बातचीत में कहा, कांग्रेस ने चुनाव में झूठे वादे किए और सरकार बनने पर विकास का कोई नया कार्य नहीं किया। इसलिए जनता का कांग्रेस से मोह भंग हो गया है। निकाय चुनावों में कांग्रेस को शिकस्त का सामना करना पड़ेगा। निकाय चुनावों के नियमों में बार-बार बदलाव करने से कांग्रेस घबराहट जग जाहिर हो गई है। कांग्रेस ने चुनाव से पहले ही हार मान ली। इसके साथ कांग्रेस की फूट भी किसी से छिपी नहीं है। ऐसे में कांग्रेस चुनाव में नहीं टिक पाएगी।

पत्रिका: भाजपा किस आधार पर चुनाव जीतेगी।

विधायक: कांग्रेस सरकार झूठ बोलकर सत्ता में आई और 8 माह में कुछ नहीं किया। शहर के विकास कार्य रोक दिए गए। कोटा नगर निगम से अधिकारी हटा दिए और महीनों तक नहीं लगाए, इस कारण काम अटके रहे। जनता का भाजपा में विश्वास है।

पत्रिका: सड़कों पर आवारा मवेशी लड़ते रहे और सफाई व्यवस्था बदहाल रही, इससे जनता नाराज है।

विधायक: भाजपा बोर्ड ने स्मार्ट सिटी के तहत कई नवाचार किए। आवारा मवेशियों को सड़कों से हटाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। कांग्रेस सरकार बनने के बाद निगम को सरकार से कोई मदद नहीं मिली।

पत्रिका: भाजपा बोर्ड पर मिट्टी घोटाला जैसे आरोप लग रहे हैं, क्या इसका नुकसान होगा।

विधायक: इस आरोप की जांच पहले भी हो चुकी है, कांग्रेस सरकार इसे सियासी नजर से देख रही है। जनता हकीकत जानती है। कांग्रेस सरकार की खामियां भी जनता अच्छी जानती है।

पत्रिका: कोटा उत्तर और कोटा दक्षिण नगर निगम में कहां भाजपा ज्यादा प्रभावी है।

विधायक: शहर की दोनों नगर निकायों में भाजपा के पक्ष में माहौल है। कांग्रेस सरकार बाढ़ पीडि़तों को पूरी राहत पहुंचाने में विफल रही।