स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

विवाद में अटकी भाजपा की सूची,प्रदेश मुख्यालय भी नहीं सुलझा पाए विवाद, निकाय चुनाव में भारी पड़ सकती हे गुटबाजी ,

Suraksha Rajora

Publish: Dec 08, 2019 12:13 PM | Updated: Dec 08, 2019 12:13 PM

Kota

पार्टी के उच्च पदाधिकारियों की जयपुर में बैठक हुई लेकिन सहमति नहीं बन पाई ।

कोटा. भारतीय जनता पार्टी ने संगठनात्मक चुनाव की कड़ी में मण्डल अध्यक्षों के नामों की घोषणा अटक गई है।

पुरखों के घर में गूंजी दहाड़, रणथंभौर से बाघों का रामगढ़ की ओर रुख

कोटा शहर और देहात के ज्यादातर मण्डलों के अध्यक्षों के नाम तय हो गए । सूची को अंतिम रूप दे दिया गया । पार्टी के उच्च पदाधिकारियों की जयपुर में बैठक हुई लेकिन सहमति नहीं बन पाई ।

वॉक ओं रन : सेहत के महाकुंभ में कदमो की आहुति,ऐतिहासिक आयोजन के साक्षी बने शहरवासी

पार्टी ने पिछले दिनों सभी मण्डलों के चुनाव के लिए नामांकन भरने की प्रक्रिया शुरू की थी। यहां दावेदारों से नामांकन भरने के साथ नाम वापसी के फार्म भी भरवाए गए थे। कोटा शहर में 14 मण्डल है। इसमें प्रत्येक मण्डल में तीन-तीन नामों का पैनल तय गया था।

गौशाला देख अधिकारियों पर बरसे कलक्टर, बोले ऐसा कैसे चल रहा है'

सभी नामों पर चर्चा के बाद एक-एक नाम पर मुहर लगा दी ।देहात में 19 मण्डल में है। यहां ज्यादातर मण्डलों में एक-एक ही नाम भेज गए थे शनिवार देर रात सहमति नहीं बनने के कारण सूची नहीं बन पाई।

[MORE_ADVERTISE1]