स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ठिठुरती सर्दी में रात को सिंचाई के लिए विवश है किसान, अब आर-पार की होगी लड़ाई

Rajesh Tripathi

Publish: Dec 12, 2019 19:56 PM | Updated: Dec 12, 2019 19:56 PM

Kota

पूर्व विधायक राजावत ने ली बैठक , जिले के किसान
23 को करेंगे विद्युत निगम कार्यालय पर प्रदर्शन

कोटा। ठिठुरती सर्दी के बीच किसान रात में खेतों में जाकर अपनी फसल की सिंचाई करने को विवश है। किसानों को दिन में थ्री फेज बिजली देने की मांग को लेकर आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी। ये बात पूर्व विधायक भवानीसिंह राजावत ने किसानों के साथ बैठक के दौरान कही। राजावत ने कहा कि जिले के किसानों पर खेती की बिजली को लेकर विद्युत विभाग ने अन्याय और जुल्म ढ़ाया है जिससे जिलेभर के किसानों में हाहाकार मचा हुआ है, करोड़ों रूपए के वीसीआर भरने, समय पर डीपी नहीं देने, किसानों का विद्युत कनेक्शन काटने, कड़ाके की ठण्ड में सिंचाई के लिए दिन के बजाय रात में बिजली देने से पूरे जिले में सरकार के खिलाफ अन्नदाता उद्वेलित हैं। पूर्व विधायक ने आह्वान किया कि 23 दिसम्बर को नयापुरा विद्युत वितरण कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन करेंगे।

5 में नाश्ता, 20 में पूडी-सब्जी, 50 में भरपेट खाना

प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए राजावत ने कहा कि वे पिछले राज में रहे या नहीं रहे, उन्होंने जनप्रतिनिधि का अपना धर्म निभाते हुए सरकार के सामने किसानों का पक्ष बेबाकी से रखा है, किसानों पर हो रहे अन्याय और अत्याचार को अब वे बर्दाश्त नहीं कर सकते। जिले में सभी जगह चाहे सांगोद हो, इटावा हो, सुल्तानपुर हो, रामगंजमण्डी हो या लाडपुरा हो, जनता बिजली संकट से त्रस्त है इसलिए किसान आर पार की लड़ाई लडऩे, बिजली अधिकारियों की नाक में नकेल डालने और किसानों को राहत पहुंचाने के लिए अब बड़ा फैसला लेना पड़ेगा। सभा को भाजपा के जिला महामंत्री चैन सिंह राठौड़, थोक फल सब्जीमण्डी के अध्यक्ष ओम मालव, देहात जिला उपाध्यक्ष हेमराज नागर, पूर्व जिला महामंत्री रामप्रसाद नागर, मण्डल अध्यक्ष जगदीश हाड़ा, दायीं मुख्य नहर के अध्यक्ष बद्रीलाल नागर सहित अनेकों पदाधिकारियों, सरपंचों और जनप्रतिनिधियों ने भी सम्बोधित किया।

[MORE_ADVERTISE1]