स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मंगल शनि में है भाईचारा,ऐसे में शनिवार को किये गए काम तो आएगी स्थिरता

Suraksha Rajora

Publish: Nov 11, 2019 18:16 PM | Updated: Nov 11, 2019 18:16 PM

Kota

....इन्होने कोटा में पहले ही कर दी थी भविष्यवाणी. देश हित मे होंगे कई बड़े बदलाव

कोटा. साल 2019 की शुरुआत से ही ग्रह गोचर के योग सयोंग को लेकर कोटा के ज्योतिषाचार्य अमित जैन ने पत्रिका को पहले ही जानकारी दी थी। इस साल देश हित के कई मामले सुलझेगे ,अप्रैल के महीने में जो ग्रह योग बने,संवत्सर के राजा उन सब योगों के अनुसार देश एक बदलाव और सौहार्द ,भाई चारे की ओर आगे बढ़ रहा है।ज्योतिर्विद के अनुसार सजिर्कल स्ट्राइक, पूर्ण बहुमत की सरकार ,धारा 370 का हटना,ओर घर्म हित के मामलों को लेकर पहले ही भविष्यवाणी कर दी थी।

इस काल मे देश के कई बड़े बदलाव और आएंगे जो जनता के लिये हितकारी रहेंगे।
4 नवम्बर को गुरु का अपनी 9वी राशि धनु पर शनि,केतु की युति के योग ने जो निर्णय आया वो सभी ने स्वीकार किया है ज्योतिष की माने तो ये सब ग्रहों की महती भूमिका बता रहे है क्योंकि न्याय के कारक शनि और घर्म के कारक गुरु ,ओर केतु का मिलन 297 साल बाद हुआ है जो भविष्य को उज्ज्वलता की ओर ले जाएगा।

मंगल और शनि का राज

महज ये सयोंग हो सकता है लेकिन सत्य है कि अंक ज्योतिष के अनुसार प्रमुख निर्णय के कारक ग्रह शनि देव है अंक 8 का स्वामी भी शनि है और 9 अंक के स्वामी मंगल ग्रह है शास्त्रों मे शनि को न्याय और मंगल को पराक्रमी ग्रह कहा जाता है।शनिवार को किया गया कार्य स्थिरता प्रधान करता है ,अभी तक देश के कई महत्वपूर्ण निर्णय भी 8,17,26,तारीख को हुए या फिर मंगलवार शनिवार को हुए इन योग सयोंग में ये कार्य भविष्य में सौहार्द ओर आपसी भाई चारे में प्रेम को दर्शाता है।
ज्योतिषाचार्य अमित जैन

[MORE_ADVERTISE1]