स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ऑनलाइन टिकट हुआ महंगा तो आरक्षण कार्यालय पर लगने लगी कतारें

Deepak Sharma

Publish: Dec 07, 2019 19:34 PM | Updated: Dec 07, 2019 19:34 PM

Kota

ऑनलाइन टिकट हुआ महंगा तो आरक्षण कार्यालय पर लगने लगी कतारें
ऑनलाइन में एसी श्रेणी के लिए 30 रुपए प्रति टिकट वसूला जा रहा

कोटा. रेल यात्रियों को ऑनलाइन टिकट कराना महंगा पड़ रहा है। रेलवे द्वारा तीन माह से पुन: सेवाकर वसूला जाने लगा है। इसके चलते अब रेलवे के आरक्षण कार्यालय में फिर से कतारें लगने लगी हैं। गौरतलब है कि आईआरसीटीसी से ऑनलाइन टिकट बुक टिकट वर्तमान में भारतीय रेल पर बुक कुल आरक्षित टिकटों का लगभग 72 प्रतिशत होता है।

रेलवे की 2002 में ऑनलाइन टिकट सुविधाओं को शुरू करने के बाद से इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) बाजार की स्थिति के अनुसार सेवाकर लगाती है। डिजीटल पेमेन्ट को प्रोत्साहित करने के लिए नवम्बर 2016 में सेवाकर हटा दिया गया था।

इस बारे में रेल प्रशासन का कहना है कि आईआरसीटीसी टिकटिंग अवसंरचना के अनुरक्षण, उन्नयन और विस्तार में काफ ी मात्रा में व्यय करती है। टिकट संबंधी अवसंरचना के अनुरक्षण उन्नयन और विस्तार में लगी लागत को वसूल करने के लिए 1 सितंबर 2019 से आईआरसीटीसी द्वारा गैर वातानुकूलित श्रेणियों के लिए 15 और वातानुकूलित श्रेणियों के लिए 30 रुपए प्रति टिकट का सेवाकर वसूला जा रहा है।

[MORE_ADVERTISE1]