स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अब बाइक खरीदने के बाद ही बनेगा किशोरों का ड्राइविंग लाइसेंस, वो भी 50 सीसी वाली

Mukesh Gaur

Publish: Nov 11, 2019 18:23 PM | Updated: Nov 11, 2019 18:23 PM

Kota

परिवहन आयुक्त ने ज्यादा क्षमता की बाइक से ड्राइविंग टेस्ट लिए जाने पर लगाई रोक

कोटा . परिवहन आयुक्त ने 50 सीसी क्षमता से ज्यादा की बाइक से किशोरों का ड्राइविंग टेस्ट लिए जाने पर सख्ती से रोक लगा दी है। इतना ही नहीं ड्राइविंग टेस्ट के लिए एक ही बाइक का बार-बार इस्तेमाल भी नहीं किया जा सकेगा। ऐसे में नाबालिगों को ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए पहले बाइक खरीदनी पड़ेगी। इसी बाइक से उन्हें ड्राइविंग टेस्ट देना होगा तभी उन्हें ड्राइविंग लाइसेंस मिल सकेगा।

read also : बच्चों की जान बचाने 7 घंटे में 113 किमी दौड़ा पिता, राजस्थान-मध्यप्रदेश में नहीं मिला इलाज, बाप की गोद में टूटा बेटा-बेटी का दम

मोटर व्हीकल एक्ट के मुताबिक 18 वर्ष से कम आयु के लोगों को सार्वजनिक स्थानों पर मोटर यान चलाने पर सख्त पाबंदी है, लेकिन 16 से 18 साल तक इन किशोरों को परिवहन नियमों में थोड़ी छूट देते हुए 50 सीसी क्षमता तक के इंजनों वाली बाइक चलाने की छूट दी गई है। लंबे समय तक काइनेटिक, टीवीएस और हीरो जैसी बाइक कंपनियां 50 सीसी तक की क्षमता वाले दुपहिया वाहन बना और बेच रही थीं, लेकिन इस वर्ग के वाहनों की मांग लगातार कम होने के कारण अब बाजार में इस क्षमता के इंजन वाली बाइक बेहद ही कम दिखाई पड़ रही है।

read only : अकबर के शासन में भी चलते थे भगवान श्रीराम और माता सीता के सिक्के, मोहरें


डीएल के लिए हो रहा था खेल
बावजूद इसके 16 साल की उम्र होते ही बच्चों का ड्राइविंग लाइसेंस बनाने वालों की संख्या में कोई कमी देखने को नहीं मिल रही थी। राजस्थान के परिवहन आयुक्त तक जब यह मामला पहुंचा तो उन्होंने क्षेत्रीय परिवहन अधिकारियों से इस बाबत पूछताछ की। जिसमें खुलासा हुआ कि 50 सीसी से अधिक इंजन क्षमता वाले वाहनों के जरिए किशोरों का ड्राइविंग लाइसेंस टेस्ट लेकर उन्हें इस श्रेणी (एल वन) के ड्राइविंग लाइसेंस दिए जा रहे हैं। जिस पर उन्होंने सख्ती से रोक लगाने के आदेश जारी कर दिए।

डीएल लेने से पहले खरीदो बाइक
परिवहन आयुक्त एवं शासन सचिव राजेश यादव ने प्रदेश के सभी क्षेत्रीय परिवहन अधिकारियों एवं ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने वाले अुनज्ञाप्ति प्राधिकारियों को आदेश जारी किया है कि 16 से 18 साल तक आयु वर्ग के आवेदकों का ड्राइविंग टेस्ट 50 सीसी क्षमता तक की बाइक से ही लिया जाए। ड्राइविंग टेस्ट लेते समय संबंधित अधिकारी को ड्राइविंग टेस्ट में इस्तेमाल की गई बाइक का रजिस्ट्रेशन नंबर भी इंद्राज करना होगा। इसके बाद ही डीएल जारी किया जा सकता है।

[MORE_ADVERTISE1]