स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

10वीं के छात्र की मौत की बनी पहेली, अब पोस्टमार्टम का इंतज़ार

Karunakant Chaubey

Publish: Jul 17, 2019 20:22 PM | Updated: Jul 17, 2019 20:22 PM

Kondagaon

School Student Death in Chhattisgarh: छात्र के संदिग्ध मौत के मामले में तोकापाल नायब तहसीलदार राहुल गुप्ता मामले की जांच कर रहे हैं। तहसीलदार गुप्ता ने बताया सोमवार शाम करीब 5.30 बजे छात्र की मौत की सूचना मिली

जगदलपुर. School student death in Chhattisgarh: भानपुरी बेसुली स्थित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय के 10वीं कक्षा के एक छात्र की सोमवार को डिमरापाल मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान मौत हो गई। दरअसल सोमवार सुबह छात्र को पेट दर्द होने पर उसे स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किया गया।

तीन साल में 13 करोड़ 93 लाख रुपये का गांजा हुआ बरामद, फिर भी तस्करों का हौसला बुलंद

यहां पर उसकी हालत और बिगडऩे लगी तो उसे दोपहर 1 बजे मेडिकल कॉलेज लेकर पहुंचे। यहां पर इलाज के दौरान शाम 5 बजे उसकी मौत हो गई। मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों को संदेह है कि छात्र की मौत जहर खाने से हुई है। इससे पूरे प्रशासनिक अमले में हडक़ंप मच गई है। अब पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही छात्र के मौत का कारण पता चल पाएगा।

गरीब छात्रों के लिए डाक विभाग ने शुरू की महत्वपूर्ण योजना, जल्द करें अप्लाई

मिली जानकारी के अनुसार बस्तर ब्लॉक के ग्राम कुंगारपाल निवासी सूदन राम कश्यप का छोटा बेटा 16 वर्षीय लखेश्वर भानपुरी बेसुली के एकलव्य विद्यालय में कक्षा 6वीं से पढ़ाई कर रहा था। लखेश्वर स्कूल के हॉस्टल में ही रहता था। सोमवार को छात्र ने शिक्षकों से अपने पेट मे दर्द होने की शिकायत की। इसके बाद उसे नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र ले गए। उसकी हालत और बिगड़ गई, तो उसे मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। यहां पर इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

तोकापाल तहसीलदार कर रहे मामले की जांच

छात्र के संदिग्ध मौत के मामले में तोकापाल नायब तहसीलदार राहुल गुप्ता मामले की जांच कर रहे हैं। तहसीलदार गुप्ता ने बताया सोमवार शाम करीब 5.30 बजे छात्र की मौत की सूचना मिली। जानकारी मिलने के बाद तत्काल मेडिकल कॉलेज पहुंचा और मामले पर आगे की कार्रवाई हुई। फिलहाल इस मामले पर मृतक छात्र के दोस्त, शिक्षक और हॉस्टल अधीक्षक से पूछताछ की जा रही हैं।

रात से ही मृतक की बिगड़ी थी तबीयत

प्रभारी अधीक्षक अरूण कुमार ठाकुर और प्राचार्य बीआर मरकाम ने बताया कि रविवार शाम से छात्र के पेट में दर्द होने की शिकायत मिल। सुबह जब दर्द ज्यादा बढ़ गया तो उसे पास के ही स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किए। इसके बाद मेडिकल कॉलेज लेकर पहुंचे।

एकलव्य विद्यालय में 126 बच्चे अध्यनरत हैं। मृतक छात्र लखेश्वर के साथ 15 अन्य छात्र एक ही कमरे में रहते थे। इन छात्रों से पूछताछ करने पर बताया कि उसका किसी से कोई विवाद नहीं था। वहीं लखेश्वर के आंख में थोड़ी समस्या थी। इसके अलावा उसे कोई बीमारी नहीं थी।