स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

महीनों तक किया दुष्कर्म, फिर ले गया झोला छाप डॉक्टर के पास ये कराने, जब हकीकत आई सामने तो...

Bhupesh Tripathi

Publish: Nov 09, 2019 20:29 PM | Updated: Nov 09, 2019 20:29 PM

Kondagaon

नाबालिग से दुष्कर्म करने का अंजाम हुआ बहुत बुरा, शादी का झांसा देकर करता रहा अनाचार।

कोंडागांव।छत्तीसगढ़ में बाद रहे दुष्कर्म के अपराध अब चिंता का विषय बना हुआ है।शनिवार को प्रदेश के कोंडागांव जिले से एक खबर आई जिसमे विवाह का प्रलोभन देकर नाबालिग से अनाचार करने का मामला प्रकाश आया। कोर्ट ने 33 वर्षीय आरोपी युवक रामसिंह सलाम और एक झोला छाप डॉक्टर को फास्ट ट्रैक कोर्ट ने अलग अलग धाराओं में सजा सुनाई है साथ ही जुर्माना भी लगाया है।

क्या है पूरा मामला
अपर लोक अभियोजक नरेश नाइक ने बताया कि कोशलनार की एक नाबालिग को शादी का प्रलोभन देकर नारायणपुर के शांतिनगर निवासी रामसिंह सलाम ने कई बार अनाचार किया। गर्भवती होने पर रामसिंह नाबालिग को भानुप्रतापपुर ले गया इसके बाद कोरर में प्राइवेट क्लीनिक में उसका गर्भपात करा दिया। कोर्ट ने नाबालिग का गर्भपात करने वाले झोला छाप डॉक्टर विजन मंडल को 3, 10 और 5 साल की सजा सुनाई है।साथ ही डॉक्टर पर कुल 60 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। वही मुख्य आरोपी रामसिंह को दो अलग-अलग धाराओं में कुल 20 और 7 वर्ष की सजा सुनाई है, साथ ही 10500 रुपए का जुर्माना भी लगाया है।

साक्ष्य मिटाने के आरोप में मानकुमारी यादव को 5 साल के कारावास और 10 हजार रुपए के जुर्माने की सजा कोर्ट ने दी गई है।आपको बता दें हाल ही में हुए एक रिसर्च में पाया गया है कि छत्तीसगढ़ प्रदेश दुष्कर्म के मामले में प्रथम स्थान पर है। जो चिंता का विषय है यदि ऐसी ही स्थिति पुरे प्रदेश में बनी रही तो कुछ समय बाद महिलाओं का घर से बाहर निकलना मुश्किल हो जाएगा।

Click & Read More Chhattisgarh News.

नाबालिग का अपहरण कर 5 युवकों ने दिया गैंगरेप को अंजाम फिर रेलवे स्टेशन में छोड़कर फरार हुए आरोपी

पुलिस विभाग में सैकड़ों की संख्या में हुए तबादले, प्रधान आरक्षक और आरक्षक हुए इधर से उधर

आयुष्मान और सीएम हेल्थ कार्ड योजना के तहत इलाज नहीं होगा बंद, सरकार ने कही यह बड़ी बात

[MORE_ADVERTISE1]