स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अब रात होते ही गांवो में महिलाएं बजाएंगी सीटी, दिया जाएगा इस बात का संदेश

Badal Dewangan

Publish: Jan 16, 2020 16:36 PM | Updated: Jan 16, 2020 16:36 PM

Kondagaon

कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने जिले में इस बीमारी से मुक्ति दिलाने के लिए स्वास्थ्य समूहों की महिलाओं को व्हिसल देने के निर्देश दिए गए हैं।

कोण्डागांव. कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने जिले को मलेरिया से मुक्ति दिलाने के लिए अब स्वास्थ्य समूहों की महिलाओं को व्हिसील देने के निर्देश दिए है। व्हिसिल उन 51 लक्षित ग्राम जहां पर मलेरिया प्रकरणों की संख्या 10 प्रति हजार है। उनमें स्कूली बच्चों तथा महिला स्वास्थ्य समूहों को व्हिसील देकर रोजाना शाम होते ही मच्छरदानी लगाने के लिए ग्रामीणों में जागरुकता आंदोलन चलाए जाने एवं गांवों में शतप्रतिशत ग्रामीणों की रक्त जांच करने को कहा गया।

व्हिसल के साथ होगा मच्छरदानी का वितरण
साथ ही इन सभी ग्रामों में मच्छरदानी वितरण, तालाबो में गम्बुजा मछली डालने, प्रत्येक जल भराव वाले स्थानों एवं गड्ढो में केरोसिन डालकर लार्वा को पनपने से रोकने के हर संभव प्रयास किए जाने पर जोर दिया। वहीं स्कूल शिक्षा तथा राजस्व विभाग को सम्मिलित रुप से अभियान चलाकर स्कूली बच्चों का गांव-गांव में शिविर के माध्यम से जाति प्रमाण-पत्र फरवरी माह के प्रथम सप्ताह में बनाए जाने के निर्देश दिए है।

इस योजना के तहत २६ हजार ३०० महिलाएं एनीमिया से हुई मुक्त
इसके साथ ही मुख्यमंत्री जन-चौपाल, लोक सेवा गारंटी, धान खरीदी, सुराजी गांव योजना, कौशल विकास, किसान सम्मान निधि, वन अधिकार पट्टा, मक्का खरीदी एवं गौठानों की समीक्षा की। सुपोषण योजना में सम्मिलित 26 हजार महिलाओं में से ३०० महिलाएं एनीमिया से मुक्त हुई हैं।

[MORE_ADVERTISE1]