स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Corruption in CG: ठेकेदार ने CM भूपेश को लिखा पत्र, कहा भष्ट्राचार बंद नहीं हुआ तो कर लूंगा जल समाधि

Bhupesh Tripathi

Publish: Jul 11, 2019 18:47 PM | Updated: Jul 11, 2019 19:05 PM

Kondagaon

Corruption in CG: भ्रस्टाचार (Corruption) से त्रस्त ठेकेदार ने मुख्यमंत्री (CM Bhupesh Baghel) को पत्र लिख कर जल समाधि (jal samadhi) लेने की बात कही है। बताया जा रहा है प्रदेश में हो रहे भष्ट्राचार (Corruption In Chhattisgarh) और अफसर शाही से त्रस्त होकर ऐसा करने का निर्णय किया है।

कोण्डागांव। Corruption in CG: सरकारी प्रशासनिक व्यवस्थाओं से थक हारकर आखिरकार जिले (District of chhattisgarh) के एक ठेकेदार ने मंगलवार को मुख्यमंत्री (CM Bhupesh baghel) के नाम एसडीएम (SDM kondagaon) को सौपे पत्र में प्रशासनिक भ्रष्ट्राचार (Corruption) व अफसशाही के चलते जल समाधि लेने का ऐलान कर दिया हैं। नोटेबंदी और डिजिटल इंडिया लागू होने के बाद भी देश और प्रदेश से भ्रस्टाचार समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा है।

छत्तीसगढ़ प्रदेश के जगदलपुर जिले अंतर्गत विकासनगर वार्ड के निवासी हिमेंश गांधी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम पत्र लिख (Contractor wrote letter to CM about jal samadhi) अपना दुःख व्यक्त किया है ठेकेदार ने बताया कि, वह वर्ष 2011 से 2015 के बीच अलग-अलग 14 कार्य टेंडर (tender work) के माध्यम से लिया था। जिसका नियमानुसार वर्कआर्डर होने के बाद उसने काम भी शुरू कर दिया और जब लगभग 30 प्रतिशत काम पूरा होने के बाद विभाग ने फण्ड न होने की बात कही।

Chhattisgarh News: केवल सितंबर तक ही मरीजों को मिलेगा 'आयुष्मान भारत योजना' का लाभ

आधा कार्य होने के बाद जब उन्होंने मेजरमेंट व भुगतान की बात कही तो संबंधित विभाग लोक निर्माण ने उक्त हेंड में बजट नहीं होने की बात कह दिया। इसके बाद से उनकी कागजी कार्रवाई शुरू हुई जो आज तक चली आ रही हैं। यहां तक कि मामला सीएम जनदर्शन (CM jandarshan chhattisgarh) से लेकर न्यायालय तक भी गया। बावजूद इसके संबधित विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों ने उनकी एक न सुनी और सरकारी कागजों में ही घूमाते रहने से खुद को प्रताड़ित होने की बात ठेकेदार ने कही।

सरकार बदली पर अफसरों का रवैया नहीं बदला
ठेकेदार नेे कहा कि, सरकार बदल गई, लेकिन आज भी सरकारी अफसरों के काम करने का तरीका पहले जैसा ही है। और मुझे सुनियोजित तरीके से आर्थिक एव सामाजिक क्षति पहुंचाने तथा मेरे विरूद्व कुट रचना कर 24 अपराधिक प्रकरण न्यायालय में दर्ज किया गया जहां से एक-एक कर सभी प्रकरणों से मैं निर्दोष साबित हुआ।

World Population Day: रात को ये तरीका अपनाकर दे सकते हैं आबादी नियंत्रण और देश विकास में अपना सहयोग

इसके बाद भी से मेरे द्वारा लगातार कागजी कार्यवाही किया जाता रहा। लेकिन मेरे आवेदनों पर कोई सुनवाई न करन भ्रष्ट्राचार व असफरशाही को साबित करता हैं। जिससे मैं अब त्रस्त हो चुका है। और आजादी पर्व 15 अगस्त (Independence day 2019) की शाम 4 बजे स्थानीय बांधा तालाब में जल समाधि (Jal samadhi) लेने का निर्णय कर लिया हैं। ज्ञात हो कि, इसी ठेकेदार (Contrector) ने तकरीबन सालभर पहले लोक निर्माण विभाग (PWD chhattisgarh) के अफसरों के विरूद्व मामला दर्ज करने दस्तावेजों के साथ कोतवाली में आवेदन दिया था।