स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पार्क को बनाया धोबीघाट

Satyendra Sharma

Publish: Jul 20, 2019 21:14 PM | Updated: Jul 20, 2019 21:14 PM

Kishangarh

रविंद्र रंगमंच के पास पार्क के हालात
आखिर कहां मनाए सावन महोत्सव

मदनगंज-किशनगढ़.
नगर के मध्य स्थित रविंद्र रंगमंच के पास पार्क बना हुआ है। वर्तमान में यह पार्क उपेक्षा और रखरखाव की कमी के कारण धोबीघाट और कबाडख़ाना बना हुआ है। इस पार्क की हालत सुधारी जाए तो यह काफी उपयोगी बन सकता है।
नगर के बीचोबीच होने के बावजूद रविंद्र रंगमंच के पास वाला पार्क बदहाल है। वर्तमान में यह पार्क कपड़े सुखाने और कबाड़ रखने के काम आ रहा है। इस पार्क में पेड़ तो है लेकिन दूब और अन्य साधनों का अभाव है। इससे आसपास के क्षेत्रवासियों को परेशानी होती है। इस पार्क के रखरखाव की ओर ध्यान दिया जाए तो क्षेत्रवासियों के लिए उपयोगी बन सकता हैऔर महिलाओं और बच्चों को घर के पास ही पार्क की सुविधा मिल सकती है।
इस पार्क की रेलिंगों पर कपड़े सुखाए जाते है और यह दिनभर कपड़े सुखाने में काम आता है। पार्क में रविंद्रनाथ टैगोर की मूर्ति भी है लेकिन यह मूर्ति भी कबाड़ से घिरी हुई है। इसके साथ ही पार्क में जगह-जगह कचरा और अन्य सामान भरा पड़ा है जिससे इसमे घूमने की बात सोची भी नहीं जा सकती है। पार्क में खानाबदोश परिवार ने ठिकाना भी बना रखा है।
हो सकता है उपयोगी
इस पार्क की हालत सुधारी जाए तो यह काफी उपयोग बन सकता है। इस पार्क की सफाई कर इसमे दूब लगाई जा सकती है। इसके साथ ही इसमे बैठने की बैंचे और बच्चों के खेलने के उपकरण लगाए जा सकते है। इससे यह एक बाल वाटिका के रूप में विकसित हो सकता है।

पार्क की हालत ठीक नहीं है। इस पार्क की हालत सुधारे जाने की जरूरत है। इसका नियमित रखरखाव किया जाना चाहिए।
-हेमलता अग्रवाल
पार्क की दशा सुधारे जाने की जरूरत है। इस पार्क की काफी समय से हालत ठीक नहीं है। इसे उपयोगी बनाया जाना चाहिए।
-शांति देवी
पार्क में हरियाली तो ठीक है लेकिन दूब नहीं है। इसके साथ ही इसमे कबाड़ भी पड़ा रहता है। इस ओर ध्यान दिया जाना चाहिए।
-रेखा कुमावत
इस पार्क की हालत काफी समय से ठीक नहीं है। इसकी हालत सुधारे जाने की जरूरत है। सावन में यह उपयोगी बन सकता है।
-प्रभावती