स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जल्द शुरू होगा टैंक बनाने का कार्य

Satyendra Sharma

Publish: Aug 13, 2019 21:35 PM | Updated: Aug 13, 2019 21:35 PM

Kishangarh

खंभे खड़े करने का कार्य पूरा
डाक बंगला परिसर में उच्च जलाशय का निर्माण कार्य जोरों पर

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मदनगंज-किशनगढ़.
डाक बंगला परिसर में उच्च जलाशय निर्माण कार्य जोरों पर है। इस उच्च जलाशय के खंभे खड़े करने का कार्य पूरा हो गया है। अब जल्द ही इन खंभों पर टैंक बनाने का कार्य शुरू होगा। इस उच्च जलाशय का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद इससे मदनगंज मुख्य क्षेत्र में जलापूर्ति की जाएगी।
पुनर्गठित शहरी पेयजल परियोजना के अंतर्गत डाक बंगला परिसर में उच्च जलाशय का निर्माण कार्य तेजी से किया जा रहा है। वर्तमान में इसके खंभों का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। इन खंभों की ऊंचाई 24 मीटर रहेगी। अब जल्द ही टैंक बनाने का कार्य शुरू कर दिया जाएगा। इस उच्च जलाशय की क्षमता 11 लाख लीटर पेयजल की रहेगी। इसकी निर्माण लागत लगभग 1 करोड़ 93 लाख रुपए रहेगी। इसका कार्य अगले तीन माह में पूरा कर लिया जाएगा।
मुख्य क्षेत्र में होगी जलापूर्ति
जलदाय विभाग की ओर से इस उच्च जलाशय से मदनगंज मुख्य क्षेत्र मेें पेयजल आपूर्ति की जाएगी। मुख्य मार्ग सहित ओसवाली मोहल्ला, भाट मोहल्ला, मुख्य चौराहा के पास, व्यापारी मोहल्ला आदि क्षेत्रों में जलापूर्ति की जाएगी। इससे इन क्षेत्रों में पे्रशर से पेयजल आपूर्ति की जा सकेगी।
१४ का कार्य पूरा
परियोजना के अंतर्गत बनने वाले 15 उच्च जलाशयों में से 14 उच्च जलाशयों का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। इनमे से कई उच्च जलाशयों से जलापूर्ति का कार्य शुरू हो चुका है। इससे लोगों को प्रेशर से पानी मिलने लगा है। इस उच्च जलाशय का निर्माण कार्य पहले देवडूंगरी क्षेत्र में होना था लेकिन विवाद के चलते डेढ़ वर्ष तक रूका रहा। वर्तमान में डाक बंगला परिसर में निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है।
40 किलोमीटर पेयजल लाइन बाकी
इस उच्च जलाशय के निर्माण कार्य के साथ ही मदनगंज मुख्य क्षेत्र में ४० किलोमीटर पेयजल लाइन बिछाए जाने का कार्य बाकी है। वर्तमान में बरसात के चलते नई पेयजल लाइन बिछाने के लिए खुदाई पर प्रतिबंध है इसलिए यह कार्य नहीं किया जा रहा है। बरसात का मौसम जाने के बाद खुदाई का कार्य शुरू होगा।