स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शहीद भाई की प्रतिमा को बहनों ने बांधी राखी

Kali Charan kumar

Publish: Aug 16, 2019 21:23 PM | Updated: Aug 16, 2019 21:23 PM

Kishangarh

शहीद भाई की प्रतिमा को बहनों ने बांधी राखी

हरमाड़ा. ग्राम बुहारु के शहीद भाई की प्रतिमा पर रक्षा बंधन के दिन उनकी तीन बहनों ने रक्षा सूत्र बांधा। तीनों बहिनों ने रक्षाबंधन के दिन ग्राम में स्थित शहीद स्मारक जाकर भाई की प्रतिमा का पूजन किया, तिलक लगाया एवं प्रतिमा के हाथ पर राखी बांधी और प्रतिमा के गले भी लगी। इस दौरान तीनों बहनें भावुक भी हो गई। मौके पर मौजूद परिवार के अन्य सदस्यों और ग्रामीणों ने भारत माता की जय और शहीद दयाल गुर्जर अमर रहे के नारे लगाए। बुहारु के दयालचन्द गुर्जर भारतीय सेना की 21 वीं राष्ट्रीय राइफल बटालियन में लांस नायक के पद पर जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा क्षेत्र में तैनात थे। 25 मार्च 2000 को कुपवाडा जिले के सेक्टर सात में आतंकवादियों से लोहा लेते वक्त यह जांबाज वीरगति को प्राप्त हो गया था। शहीद के पैतृक गांव बुहारु में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया और यहां पर शहीद स्मारक भी बनाया गया। इसके बाद से ही हर साल रक्षाबंधन के दिन शहीद की तीनों बहिनें रतन देवी, मदन देवी एवं ज्ञाना देवी परिवार के सदस्यों के साथ शहीद के स्मारक पर आती है और यहां पर अपने शहीद भाई की प्रतिमा को तिलक लगाती है, माला पहनाती है एवं कलाई पर रक्षासूत्र बांधती है। इस बार भी रक्षा बंधन के दिन तीनों बहिनें अपने तीन भाईयों घीसालाल, लक्ष्मण ,विश्राम एवं परिवार के अन्य सदस्यों के साथ स्मारक आई और शहीद की प्रतिमा को रक्षा सूत्र बांधा। रक्षा सूत्र बांधने के बाद तीनों बहिनों ने बताया कि उन्हें ऐसा लगता है कि आज भी उनका भाई उनके साथ है एवं रक्षाबंधन के अलावा भी जब भी वह अपने पीहर बुहारु आती है, यहां अपने भाई के स्मारक पर जरूर आती है। यहां आने पर उन्हें ऐसा महसूस होता है मानो वे अपने भाई से रू-ब-रू मिल रही है। शहीद के भाई विश्राम गुर्जर ने बताया कि हमारे परिवार के लिए यह एक मंदिर की तरह है जहां हमारे परिवार के लोग नियमित आकर शहीद की प्रतिमा का पूजन करते है। इससे पूर्व स्वतंत्रता दिवस होने पर सुबह राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के बुहारु के संस्थाप्रधान एवं अन्य स्टाफ के सदस्यों ने शहीद स्मारक पहुंचकर शहीद को नमन किया एवं यहां तिरंगा फहरा कर राष्ट्रगान गाया। इस मौके पर अन्य ग्रामीण भी मौजूद रहे।