स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यह पार्क है या कचरा डिपो

Kali Charan kumar

Publish: Jul 19, 2019 20:49 PM | Updated: Jul 19, 2019 20:49 PM

Kishangarh

कैसे मनाए सावन महोत्सव
हाऊसिंग बोर्ड का पार्क बदहाल

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मदनगंज-किशनगढ़. नगर के हाऊसिंग बोर्ड स्थित पार्क कचरा डिपो बना हुआ है। इस पार्क में कचरा-मलबा भरा हुआ है। पार्क में हरियाली के नाम पर केवल कुछ पेड़ ही मौजूद है। इस कारण यह पार्क क्षेत्रवासियों के उपयोग में नहीं आ रहा है। इस पार्क के विकास की ओर ध्यान दिया जाए तो सावन में यह पार्क उत्सव मनाने में उपयोगी हो सकता है।
नगर के हाऊसिंग बोर्ड क्षेत्र में पार्क बना हुआ है। रखरखाव और उपेक्षा की कमी के कारण यह पार्क कचरा डिपो बनकर रह गया है। इस पार्क में कचरा और मलबा भरा पड़ा है।पार्क की दीवार भी कई जगह से क्षतिग्रस्त हो चुकी है और गेट भी नहीं है। इस कारण पार्क में लावारिस पशु घुस जाते है।
बनी रहती है परेशानी
इस पार्क की खस्ता हालत के कारण क्षेत्रवासियों को काफी परेशानी बनी रहती है। पार्क में कचरे के कारण बदबू रहती है और बरसात के समय तो समस्या बढ़ जाती है। काफी समय से यह समस्या बनी हुई है लेकिन अभी तक समाधान नहीं हुआ है।
तो बन सकता है उपयोगी
इस पार्क के रखरखाव की ओर ध्यान दिया जाए तो यह पार्क क्षेत्रवासियों के लिए काफी उपयोगी बन सकता है। सबसे पहले इस पार्क की सफाई करवाकर दरवाजा लगाए जाने की आवश्यकता है। इससे पार्क की हालत सुधर सकती है। पार्क में दूब और बच्चों के खेलने के उपकरण लगा दिए जाए तो पार्क की हालत सुधर जाएगी। इससे पार्क में लोगों को आना और बच्चों का खेलना शुरू हो जाएगा।
पार्क की हालत काफी समय से खराब है। इस पार्क की दशा सुधारी जानी चाहिए। इससे यह पार्क क्षेत्रवासियों के लिए उपयोग बन सकेगा।
-दिव्या नारायणी
पार्क में कचरा पड़ा रहने के कारण लावारिस पशु आ जाते है जिससे बच्चों की सुरक्षा की चिंता बनी रहती है। इस पार्क की हालत सुधारी जानी चाहिए।
-चंद्रकांता पारीक
इस पार्क के विकास की ओर ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है। पार्क का विकास किया जाए तो क्षेत्रवासियों को समस्या से राहत मिलेगी।
-रेखा देवी
पार्क में हरियाली के लिए दूब और छोटे पौधे लगाए जाने की आवश्यकता है। इसके साथ ही बच्चों के खेलने के उपकरण भी लगाए जाने चाहिए।
-पूनम देवी