स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भारत-पाक संबंधों में खटास का असर छुआरे पर

Kali Charan kumar

Publish: Aug 14, 2019 12:14 PM | Updated: Aug 14, 2019 12:14 PM

Kishangarh

सूखे मेवों के बढ़े भाव

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मदनगंज-किशनगढ़. कश्मीर में धारा 370 लगाए जाने के बाद पाकिस्तान की ओर से व्यापारिक संबंध समाप्त करने के बाद वहां से आने वाले छुआरे की कीमतें बढ़ गई है। बीते सप्ताह भर में छुआरे के भाव 300 रुपए किलो से पार हो गए है। छुआरे के साथ ही कश्मीर से आने वाले सूखे मेवों के भावों में भी बढ़ोतरी हो गई है।
भारत की ओर से जमू-कश्मीर में धारा 370 हटाने का असर पाकिस्तान से आने वाली वस्तुओं पर दिख रहा है। भारत की ओर से जमू-कश्मीर में धारा 370 हटाने से नाराज पाकिस्तान की ओर से व्यापारिक संबंध समाप्त करने के कारण वहां से आने वाले छुआरे की कीमत 250 से 70 रुपए बढ़ कर 320 रुपए किलो हो गए है। वहीं सेदें नमक का भी यही हाल है। यह 20 रुपए से 30 रुपए किलो हो गया है। सूखे मेवों के व्यापारी ललित अरिलानी ने बताया कि सप्लाई में कमी होने के कारण भाव बढ़े है। क्योंकि पाकिस्तान से बड़ी मात्रा में छुआरा आता है।
अखरोट, बादाम, किशमिश भी तेज
बीते एक पखवाड़े में कश्मीर में कयू से अखरोट, बादाम और किशमिश में तेजी आई है। बीते एक पखवाड़े में बादाम 6 8 0 से 750 रुपए, अखरोट 470 से 58 0 और किशमिश 220 से 28 0 हो गई है। बदली परिस्थितियों में कश्मीर में लदान प्रभावित हुआ है। इससे इन वस्तुओं की कीमते बढ़ी है।
केसर पर भी असर
कश्मीर से आने वाली केसर के भावों पर कोई खास असर नहीं पड़ा है। केसर के प्रतिग्राम दाम में 20 रुपए की बढ़ोतरी हुई है। 130 रुपए प्रतिग्राम मिलने वाली केसर 150 रुपए हो गई है।

व्यापारी हुए मायूस
सूखे मेवों की आवक कम होने और त्यौहारी सीजन में मांग भी बढऩे लगी है। भावों में तेजी होने के बावजूद सूखे मेवों की बिक्री कमजोर है। ऐसे में सूखों मेवों के व्यापारी भी रक्षा बंधन जैसे त्यौहारी सीजन में माल की कम आवक होने से मायूस है।