स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बिहार में जुलाई से होगी ऑनलाइन एफआईआर

Shribabu Gupta

Publish: May 26, 2017 13:07 PM | Updated: May 26, 2017 13:07 PM

Kishanganj

बिहार में ऑनलाइन एफआईआर जुलाई से शुरू हो जाएगी। इसकी तैयारी जोर-शोर से चल रही है...

पटना। बिहार में ऑनलाइन एफआईआर जुलाई से शुरू हो जाएगी। इसकी तैयारी जोर-शोर से चल रही है। इसके लिए कंप्यूटर और कर्मचारी उपलब्ध करा दिए गए हैं। साथ ही डाटा शेयर का भी काम चल रहा है, जिसे पूरा होने में अभी समय लगेगा। सभी थानों को क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रैकिंग नेटवर्क सिस्टम - सीसीटीएनएस प्रोजेक्ट से जोडऩे का काम चल रहा है। करीब सवा साल में इसके पूरा होने की उम्मीद है।

विडियो कान्फ्रेंसिंग के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंहने यह जानकारी दी। प्रधानमंत्री सभी राज्यों के मुख्य सचिव से मुखातिब थे और जानकारी प्राप्त कर रहे थे। कान्फ्रेंसिंग के बाद मुख्य सचिव ने कहा कि बिहार की तैयारियेां की जानकारी प्रधानमंत्री को दी गई। देश के स्तर पर सीसीटीएनएस की ऐसी व्यवस्था की जा रही है कि अपराध करने वाले व्यक्ति की पूरी जानकाीर ऑनलाइन उपलब्ध हो।

बिहार में भी इसकी तैयारी चल रही है। यह कार्य पूरा होने के बाद अपराधपर अंकुश लगाने में भी मदद मिलेगी। इससे अपराधियों के नेटवर्क को भी पकडऩा आसान होगा। इसमें अपराधी का नाम, पता, उसके केस की धारा आदि पूरी जानकारी रहेगी। कोई अपराधी किसी भी राज्य में अपराध करेगा तो उसकी तुरंत जानकारी वहां की पुलिस को हो जाएगी कि यह कहां का रहने वाला है।

इसने पहले भी और कौन-कौन से अपराध किये हैं। अपराधी पुलिस को गलत जानकारी नहीं दे पायेगा। इससे संबंधित थाने से तत्काल संपर्क स्थापित किया जा सकता है। इस मौके पर बिहार के डीजीपी पीके ठाकुर भी मौजूद थे। सीसीटीएनएन प्रोजेक्ट के लिए राज्य में कंसलटेंट नियुक्त कर लिया गया है।