स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

लोकायुक्त पुलिस ने रिश्वत लेते पकड़ा तो झूमाझटकी कर भागने लगा पटवारी

Manish Arora

Publish: Jan 22, 2020 12:38 PM | Updated: Jan 22, 2020 12:38 PM

Khandwa

-सेवानिवृत्त शिक्षक से जमीन नामांतरण के नाम पर ले रहा था चार हजार की रिश्वत
-पटवारी के भाई ने लगाया लोकायुक्त पुलिस पर मारपीट का आरोप
-थाने में बनी हंगामें की स्थिति, पुलिस ने किया लोगों को थाने से बाहर

खंडवा. लोकायुक्त पुलिस ने मंगलवार को खंडवा की बाहेती कॉलोनी में एक पटवारी को सेवानिवृत्त शिक्षक से चार हजार रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा। लोकायुक्त की पकड़ में आते ही पटवारी लोकायुक्त पुलिस से झूमाझटकी कर भागने लगा। लोकायुक्त पुलिस पटवारी को लेकर थाने पहुंची। यहां पटवारी के भाई ने लोकायुक्त पुलिस पर अपने भाई से मारपीट का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। घटना की जानकारी मिलने पर जिले के अन्य पटवारी भी थाने पहुंच गए। लोकायुक्त पुलिस ने पटवारी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत केस दर्ज कर मुचलके पर छोड़ा।
केंद्रीय विद्यालय के सेवानिवृत्त शिक्षक मांगीलाल प्यासे की सुरगांव जोशी में छह एकड़ जमीन है, जिसमें छह भाईयों का हिस्सा है। जमीन नामांतरण कराने के लिए प्यासे ने छैगांवमाखन तहसील में आवेदन दिया था। यहां पदस्थ पटवारी राजेश धात्रक ने जमीन नामातंरण करने के बदले प्रत्येक भाई से 10-10 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी। जिसमें मांगीलाल प्यासे अपने हिस्से की जमीन नामांतरण के लिए 8 हजार रुपए देने को राजी हुए थे। मांगीलाल ने पटवारी राजेश धात्रक को दो हजार रुपए पहले दिए थे। जिसके बाद आवेदक ने लोकायुक्त पुलिस को शिकायत की थी। मंगलवार सुबह 11.40 बजे मांगीलाल बाहेती कॉलोनी स्थित पटवारी के घर पहुंचे थे। यहां तीसरी मंजिल पर पटवारी राजेश धात्रक ने उन्हें बुलाया और रिश्वत की राशि 4 हजार रुपए ली। जिसके बाद आवेदक ने खिड़की से टोपी उतारकर लोकायुक्त पुलिस को इशारा किया। लोकायुक्त पुलिस पटवारी को पकड़कर थान ले आई।
भाई ने लगाया आरोप पीटते हुए लाए
यहां पहुंचे पटवारी के भाई संतोष धात्रक ने लोकायुक्त पुलिस पर मारपीट का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें बाहर निकाला। इस दौरान शिकायतकर्ता ने भी पटवारी के भाई द्वारा उन्हें धमकाने की बात कही। घटना की जानकारी मिलने पर जिलेभर के पटवारी भी थाने में इक_ा हो गए। इस दौरान पटवारी के भाई ने सीसीटीवी फुटेज होने की बात कही, लेकिन वे फुटेज उपलब्ध नहीं करा पाए। वहीं, पटवारी संघ जिलाध्यक्ष अश्विन सैनी ने लोकायुक्त पर गलत कार्रवाई का आरोप लगाया। र्कारवाई में लोकायुक्त टीआई विजय चौधरी, राजकुमार सराफ, आरक्षक आशीष नायडू, कमलेश परिहार शामिल थे।
दो दिन में दूसरा पटवारी धराया
नए साल के पहले माह में लोकायुक्त पुलिस की जिले में लगातार दूसरी कार्रवाई थी। सोमवार को लोकायुक्त ने हरसूद में निशानियां की महिला पटवारी को तहसील कार्यालय से दो हजार की रिश्वत लेते पकड़ा था। मंगलवार को खंडवा में हुई कार्रवाई में भी पटवारी ही पकड़ाया। पटवारी राजेश धात्रक अपने घर की तीसरी मंजिल पर रिश्वत ले रहा था।

[MORE_ADVERTISE1]