स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शिक्षक ने सिर से हटाई टोपी, लोकायुक्त ने धरदबोचा पटवारी को

Manish Arora

Publish: Jan 21, 2020 13:46 PM | Updated: Jan 21, 2020 13:46 PM

Khandwa

-सेवानिवृत्त शिक्षक से जमीन नामांतरण के नाम पर ले रहा था चार हजार की रिश्वत
-दस हजार रुपए मांगे थे, आठ हजार रुपए में हुई थी डील पक्की
-पटवारी के भाई ने लगाया लोकायुक्त पुलिस पर मारपीट का आरोप

खंडवा. लोकायुक्त पुलिस ने मंगलवार को खंडवा की बाहेती कॉलोनी में एक पटवारी को सेवानिवृत्त शिक्षक से चार हजार रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा। सेवानिवृत्त शिक्षक ने जैसे ही सिर से टोपी हटाकर लोकायुक्त पुलिस को इशारा किया, लोकायुक्त पुलिस ने तीसरी मंजिल पर पहुंचकर रिश्वतखोर पटवारी को धरदबोचा। मामले में लोकायुक्त पुलिस पटवारी को लेकर कोतवाली थाने पहुंची। यहां पटवारी के भाई ने लोकायुक्त पुलिस पर अपने भाई से मारपीट का आरोप भी लगाया।
केंद्रीय विद्यालय के सेवानिवृत्त शिक्षक मांगीलाल प्यासे की सुरगांव जोशी में छह एकड़ जमीन है, जिसमें छह भाईयों का हिस्सा है। जमीन नामांतरण कराने के लिए प्यासे ने छैगांवमाखन तहसील में आवेदन दिया था। यहां पदस्थ पटवारी राजेश धात्रक ने जमीन नामातंरण करने के बदले प्रत्येक भाई से 10-10 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी। जिसमें मांगीलाल प्यासे अपने हिस्से की जमीन नामांतरण के लिए 8 हजार रुपए देने को राजी हुए थे। मांगीलाल ने पटवारी राजेश धात्रक को दो हजार रुपए पहले दिए थे, लेकिन वो नामांतरण न करते हुए बार-बार रुपए की मांग कर रहा था। जिसके बाद आवेदक ने लोकायुक्त पुलिस को शिकायत की थी।
थाने में हुआ हंगामा
मंगलवार सुबह 11.40 बजे मांगीलाल बाहेती कॉलोनी स्थित पटवारी के घर पहुंचे थे। यहां तीसरी मंजिल पर पटवारी राजेश धात्रक ने उन्हें बुलाया और रिश्वत की राशि 4 हजार रुपए ली। जिसके बाद आवेदक ने खिड़की से टोपी उतारकर लोकायुक्त पुलिस को इशारा किया। लोकायुक्त पुलिस पटवारी को पकड़कर थान ले आई। यहां पहुंचे पटवारी के भाई संतोष धात्रक ने लोकायुक्त पुलिस पर मारपीट का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें बाहर निकाला। घटना की जानकारी मिलने पर जिलेभर के पटवारी भी थाने में इक_ा हो गए।

[MORE_ADVERTISE1]