स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

16 दिन पहले दिए थे निर्देश, नहीं हुआ ठेका निरस्त तो भड़कीं कलेक्टर

Manish Arora

Publish: Jan 14, 2020 12:22 PM | Updated: Jan 14, 2020 12:22 PM

Khandwa

-कहा सब्जी मंडी के सफाई ठेकेदार का आज ही निरस्त हो ठेका
नगरीय प्रशासन आयुक्त ने निरीक्षण के दौरान देखी थी मंडी में गंदगी, तब दिए थे निर्देश
-साप्ताहिक समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने कई प्रकरणों को लेकर जताई नाराजगी
-छह घंटे चली मैराथन बैठक में कई योजनाओं को लेकर दिए क्रियान्वयन के निर्देश

खंडवा. नगरीय प्रशासन आयुक्त पी नरहरि द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर 28 दिसंबर 2019 को निरीक्षण किया गया था। इस दौरान सब्जी मंडी में गंदगी देख उन्होंने सफाई ठेकेदार का अनुबंध निरस्त करने का निर्देश दिया था। 16 दिन बाद भी मंडी सचिव द्वारा कार्रवाई नहीं किए जाने पर सोमवार को साप्ताहिक समीक्षा की बैठक में अपनी नाराजगी जताई। उन्होंने मंडी सचिव को निर्देश दिए कि आज ही सब्जी मंडी के सफाई ठेकेदार का अनुबंध निरस्त किया जाए। सुबह 11 बजे आरंभ हुई समीक्षा बैठक करीब छह घंटे चली, जिसमें कलेक्टर ने सख्त रूप दिखाते हुए कई प्रकरणों में तुरंत कार्रवाई के निर्देश दिए।
16 दिन पूर्व नगरीय प्रशासन आयुक्त पी नरहरि, कलेक्टर तन्वी सुंद्रियाल स्वच्छता सर्वेक्षण के तहत सफाई कार्यों का निरीक्षण करने पंधाना रोड स्थित सब्जी मंडी पहुंचे थे। यहां गंदगी पाए जाने पर आयुक्त ने नाराजगी जताई थी और ठेका निरस्त करने को कहा था। साप्ताहिक समीक्षा बैठक में कलेक्टर सुंद्रियाल ने मंडी सचिव से कहा तब सफाई के लिए जिम्मेदार ठेकेदार का अनुबंध निरस्त करने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। इस पर नाराजगी जताते हुए कलेक्टर ने मंडी सचिव को निर्देश दिए कि सफाई ठेकेदार का कांट्रेक्ट आज ही निरस्त किया जाए। साथ ही नए अनुबंध होने तक मंडी में सफाई की जिम्मेदारी नगर निगम से करवाने को कहा।
संबल योजना के हितग्राहियों का सत्यापन करें, अपात्रों के नाम कांटे
कलेक्टर सुंद्रियाल ने बैठक में कहा कि संबल योजना में शामिल हितग्राहियों का पुन: सर्वे कर उनमें से अपात्र हितग्राहियों को चिह्नित किया जाए तथा उनके नाम पात्रता सूची से कांटे जाएं। उन्होंने कहा कि यदि सर्वे के बाद भी अपात्र हितग्राहियों द्वारा योजना का लाभ लिया जाना पाया गया तो जिम्मेदार अधिकारियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। अमानक खाद्य पदार्थों व खाद बीज की बिक्री रोकने के लिए जिम्मेदारों को सेंपलिंग करने के निर्देश भी दिए। खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के अधिकारियों को उन्होंने प्रतिदिन खाद्य पदार्थों के सेंपल लेकर लेब में उनका परीक्षण कराने को भी कहा। अमानक पाए जाने पर संबंधित पर दंडात्मक कार्रवाई के निर्देश भी कलेक्टर ने दिए। अमानक कीटनाशक, बीज, उर्वरक की बिक्री पर सख्ती से रोक लगाने के लिए विशेष अभियान चलाने को कहा। साथ ही अमानक खाद, बीज, उर्वरक मिलने पर संबंधित विक्रेता के लायसेंस निरस्त करने के निर्देश भी दिए।
जोन, वार्ड के अनुसार लगाए जनमित्र शिविर
जनमित्र शिविर को लेकर उन्होंने सभी एसडीएम, नगरीय निकाय अधिकारियों व जनपद सीईओ से नियमित शिविर लगाने को कहा। साप्ताहिक हाट बाजार के दिन आयोजित होने वाले इन शिविरों का व्यापक प्रचार प्रसार करने का निर्देश भी उन्होंने दिया। ये शिविर नगर निगम सीमा में प्रत्येक जोन पर और नगर परिषद सीमा में पांच-पांच वार्डों के बीच आयोजित किए जाएंगे। बैठक में कलेक्टर सुंद्रियाल ने कहा कि जनमित्र शिविरों में प्राप्त आवेदनों का निराकरण उसी दिन करते हुए शिविर के अंत में पोर्टल में अपडेट भी किया जाए।
एप के माध्यम से लगाना होगी हाजरी
उन्होंने नगरीय व ग्रामीण क्षेत्र में पदस्थ सभी डॉक्टर्स को मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से उपस्थिति लगाने के सीएमएचओ व सिविल सर्जन को निर्देश दिए। उन्होंने सभी जिला अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने कार्यालय में लंबे समय से स्थापना व लेखा लिपिकों के रूप में कार्य कर रहे कर्मचारियों के प्रभार में परिवर्तन करें। विशेषकर शिक्षा व स्वास्थ्य जैसे विभागों में इनकी काफी शिकायतें प्राप्त हो रही है। उन्होंने सभी जिला अधिकारियों को अनुकंपा नियुक्ति के लंबित प्रकरणों का शीघ्रता से निराकरण करने के निर्देश भी दिए। बैठक में जिला पंचायत सीईओ रोशन कुमार सिंह, अपर कलेक्टर नंदा भलावे कुशरे, एसडीएम हरसूद डॉ. परीक्षित झाड़े सहित सभी जिला अधिकारी भी मौजूद थे।

[MORE_ADVERTISE1]