स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आतंकी संगठन से जुड़ा हो सकता है आरोपियों का कनेक्शन, तेज हुई ऑनलाइन ठगी की पड़ताल

dharmendra diwan

Publish: Jan 22, 2020 11:42 AM | Updated: Jan 22, 2020 12:09 PM

Khandwa

जलगांव में भी सेल लगाकर की थी एटीएम क्लोन से ठगी, हो चुका है गिरफ्तार

खंडवा। हैंडलूम सेल में एटीएम क्लोन बनाकर बैंक खाते से रुपए गायब करने के मामले में पुुलिस को अहम सुराग मिले हैं। अंतर्राज्यीय ऑनलाइन ठगी गिरोह के मास्टर माइंड आबिद अंसारी पर महाराष्ट्र के जलगांव में भी केस दर्ज हो चुका है। आबिद का आतंकी संगठन से जुड़े होने का भी पुलिस को संदेह है, जिन बिंदुओं पर पुलिस जांच कर रही है। इधर, पुलिस रिमांड के दूसरे दिन मंगलवार को भी आरोपी आबिद और कार्तिकेन से उन १ हजार डुप्लीकेट एमटीएम कार्ड के बारे में पूछताछ कर रही है। यह डुप्लीकेट एटीएम किस-किस शहर व कितने व्यक्तियों के हैं, ताकि उनका पता कर, उन्हें वापस रुपए मिल सकें।

[MORE_ADVERTISE1]

ठगी के आरोपी आबिद साथी आरोपी कार्तिकेन ने भोपाल के लाल घाटी एसबीआई, होशंगाबाद, इटारसी, सिवनी जिले और सतना से रुपए निकाले हैं, जिनके एटीएम मशीन के पुलिस सीसीटीवी फुटेज निकलवा रही है। कुछ फुटेज सामने आए हैं, जिसमें रुपए निकालने वाले के चेहरे पर कपड़ा बंधा नजर आया। ये आरोपी एक साथ क्लोन किए अलग-अलग 1० एटीएम से रुपए निकालते थे, हर बार रुपए रात 1० से 1 बजे के बीच निकाले गए हैं।

[MORE_ADVERTISE2]

जलगांव में ठगी कर मप्र में आकर निकाले थे रुपए
आबिद व उसके साथियों ने जनवरी-२०१९ में जलगांव के यशोदा हाल में भी हैंडलूम सेल लगाई थी। वहां भी इसी प्रकार से ग्राहकों के साथ एटीएम कार्ड के क्लोन बनाए। फिर मप्र में आकर एटीएम से रुपए निकाले। शिकायत के बाद जलगांव साइबर पुलिस ने जांच कर आरोपी आबिद ओर उसके एक साथी को भोपाल से गिरफ्तार किया था। मामला विवेचना में चल रहा है।

[MORE_ADVERTISE3]

विदेशी नागरिकों से बातचीत का संदेश
एसपी डॉ. शिवदयाल सिंह ने बताया कि ठगी के आरोपी आबिद अंसारी व उसके साथियों का पूरा चिठ्ठा निकाला जा रहा है। आरोपी आबिद नाइजीरिया व कुछ विदेशी नागरिक से बातचीत करता था। ठगी से कमाए रुपए को उसने कहां और किसे दिए। इसकी जानकारी निकाली जा रही। शंका है कि कहीं वह आतंकी संगठन को पैसे तो नहीं पहुंचाता था।

ठगी गैंग से मप्र के अलावा महाराष्ट्र व अन्य राज्यों में इसी तरह की वारदात को अंजाम दिया है। पीडि़तों को रुपए वापस दिलावाए जाएंगे। आरोपियों ने भोपाल में शोरूम, प्लॉट, तीन मंजिला मकान के अलावा कहां-कहां प्रॉपर्टी बनाई है। इसकी जानकारी निकलवाई जा रही है। इन सभी प्रॉपर्टी की कुर्की की जाएगी।
डॉ. शिवदयाल सिंह, एसपी