स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भाजपा सांसद स्वामी बोले- JNU में सब पागल और अनपढ़, CAA में पाक मुस्लिम नहीं इस कारण विरोध

Pawan Tiwari

Publish: Jan 15, 2020 11:19 AM | Updated: Jan 15, 2020 11:19 AM

Khandwa

स्वामी ने कहा- नागरिकता संशोधन कानून में विरोध करने वाली बात नहीं।

खंडवा. राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने जेएनएयू में हो रहे बवाल को लेकर विवादित बयान दिया है। मंगलवार को खंडवा में स्वामी विवेकानंद व्याख्यानमाला के कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में शामिल हुए सुब्रमण्यम स्वामी ने नागरिकता संशोधन कानून और जेएनयू में हो रहे बवाल को लेकर निशाना साधा। सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा- जेएनयू में सब पागल और अनपढ़ हैं। नागरिकता संशोधन कानून में ऐसा क्या है कि ये लोग इसका विरोध कर रहे हैं।

पाकिस्तान के मुसलमान शामिल नहीं इसलिए विरोध?
सुब्रमण्यम स्वामी से जब जेएनयू को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा- ये सब पागल और अनपढ़ हैं। इस कानून में ऐसा क्या है कि इसका विरोध किया जा रहा है। 2003 में 2003 में मनमोहन सिंह जब विपक्ष में थे तो उनका टेप है। जिसमें उन्होंने कहा कि जो लोग धर्म के आधार पर शोषित होकर आए हैं। उन्हें नागरिकता देनी चाहिए। हमने कांग्रेस के ही एजेंड को लागू कर दिया। विरोध इसलिए हो रहा है कि इसमें पाकिस्तान का मुसलमान शामिल नहीं है। वो हमारे देश आना ही नहीं चाहते हैं तो हमने उनके साथ क्या अन्याय किया है।

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]

2025 में हम नबंर 1 हो जाएंगे
सुब्रमण्यम स्वामी ने बढ़ती जनसंख्या पर चिंता जाहिर की। सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा- भारत, चीन के बाद नंबर दो पर है। लेकिन 2015 तक हम नंबर एक हो जाएंगे। कम जनसंख्या को अच्छा मानना ऋणात्मक सोच है। यही जनसंख्या लाभदायक हो सकती है। अगर ठीक से शिक्षा दें। 200 साल पहले ब्रिटेन हमसे पीछे था फिर वो लोकोमेटिव व रेलवे लाए। अमरीका ने इलेक्ट्रिसिटी, टेलीफोन का अनुसंधान किया, टेलीप्रिंटकर, कम्प्यूटर लाए, इससे विकास तेजी से हुआ। हमारे यहां भी शिक्षा को नवीन करने की जरूरत है। जनसंख्या स्वर्ग ला सकती है, कम करने की बात करना वैज्ञानिक रूप से निराधार। शिक्षा पर डेढ़ नहीं बल्कि 6 फीसदी जीडीपी खर्च हो। देश का भविष्य उज्जवल तब होगा जब हम सोच में बदलाव लाएंगे। सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण करने के लिए हम जबरदस्ती नहीं कर सकते हैं। इंदिरा गांधी ने इसका प्रयास किया था लेकिन वो पिट गईं। सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि जनसंख्या को लेकर देश के लोगों को जागरूक करने की जरूरत है।

अमित शाह ने जेएनयू पर बोला था हमला
जबलपुर में सीएए के समर्थन में आयोजित रैली को संबोधित करते हुए शाह ने मंच से कहा था- जेएनयू में कुछ लड़कों ने भारत विरोधी नारे लगाए, उन्होंने नारे लगाए कि भारत तेरे टुकड़े होंगे एक हजार, इंशा अल्लाह-इंशाअल्लाह। शाह ने लोगों से पूछा कि उनको जेल में डालना चाहिए कि नहीं डालना चाहिए। अमित शाह के इस सवाल के जबाव में भीड़ ने कहा था- हां।

[MORE_ADVERTISE3]