स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भगवान का साक्षात स्वरूप है श्रीमद् भागवत

Manish Arora

Publish: Dec 13, 2019 12:03 PM | Updated: Dec 13, 2019 12:03 PM

Khandwa

-कथा विश्राम पर हुआ हवन, कन्या पूजन, विशाल भंडारा
-संत ब्रह्मगीर महाराज गुरु गादी पर दूसरे दिन भी मनी पूर्णिमा, चढ़े निशान

खंडवा. भागवत मेरा साक्षात रुप है, हर पन्ने में हर श्लोक में मेरे पूर्ण दर्शन होंगे। सात दिन में परीक्षित को मोक्ष मिला। जो मनुष्य पूर्ण श्रद्धा एवं विश्वास से श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण, पठन करेगा उसका मोक्ष अवश्य होगा। यह बात पं. नारायण शास्त्री ने विद्युत नगर रोड सिंधी कॉलोनी स्थित मां आशापुरा माता मंदिर प्रांगण में भागवत ज्ञानयज्ञ सप्ताह के अंतिम दिवस भगवान के स्वधाम गमन की कथा सुनाते कही। गुरुवार को कथा विश्राम के अवसर पर मां आशापुरा मंदिर समिति द्वारा हवन यज्ञ, कन्या पूजन, कन्या भोज के साथ भंडारा आयोजित हुआ। प्रवक्ता निर्मल मंगवानी ने बताया मंदिर प्रमुख लालू बाबा के सानिध्य में भागवत सप्ताह के दौरान संजय सोनी एवं महिला समिति सदस्यों द्वारा भजनों की प्रस्तुतियां दी गई। कथा के दौरान विधायक देवेंद्र वर्मा, सुनील जैन, घनश्याम संतवानी, अजय आहूजा, वार्ड पार्षद सागर आरतानी, संदेश गुप्ता, नवीन गंगवानी, आशापुरा माता मंदिर समिति सदस्य, विद्युत नगर महिला मंडल आदि सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।
विधायक भी पहुंचे शिश नवाने
अमलपुरा संत ब्रह्मगीर महाराज गुरु गादी पर दूसरे दिन भी पूर्णिमा मनाई गई। गुरुवार को भी गुरु गादी पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु निशान चढ़ाने पहुंचे। वहीं, खंडवा विधायक देवेंद्र वर्मा ने भी गुरु गादी पहुंचकर शिश नवाया। अमलपुरा से तीन किमी दूर शिवना में ब्रह्मगीर महाराज का छह दिवसीय मेला मंगलवार से चल रहा है। मेले के तीसरे दिन गुरुवार को मोरदड़, पाडलिया, सेगवाल, जामली सहित आसपास के गांवों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु निशान लेकर पहुंचे। यहां पवित्र झीर में स्नान के बाद गुरु गादी पर निशान अर्पित किए गए। पाडलिया से आए शिवनारायण पटेल ने बताया कि वे 26 साल से लगातार निशान ला रहे है। मेले में तीसरे दिन बड़ी संख्या में लोग मनोरंजन के लिए भी पहुंचे। हालांकि शाम में हुई बारिश ने मेले में खलल डाला।

[MORE_ADVERTISE1]