स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

व्यापारी को चोरी का माल बेचते और ट्रक के कर देते थे टुकड़े, इंजन नंबर से धराए

Jitendra Tiwari

Publish: Dec 14, 2019 00:22 AM | Updated: Dec 14, 2019 00:22 AM

Khandwa

पंधाना थाना क्षेत्र में सोयाबीन से भरा ट्रक चोरी की वारदात के तीन आरोपियों को पुलिस ने पकड़ा
120 बोरी सोयाबीन सहित करीब 10 कीमती कटे ट्रकों का सामान किया बरामद, 12 वारदातें कबूली

 

खंडवा. कीमती सामान से लदे ट्रकों को चोरी कर माल व्यापारियों को और ट्रक के टुकड़े-टुकड़े कर कबाड़ में बेचने वाला गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ा है। पुलिस ने गिरोह के मास्टरमाइंड सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में आरोपियों ने खंडवा सहित प्रदेश के कई जिलों में 12 से अधिक वारदातें करना कबूली हैं। शुक्रवार को मामले का खुलासा करते हुए एसपी डॉ. शिवदयाल सिंह ने बताया पंधाना थाना क्षेत्र की खंडवा आइल मिल के सामने से 13 नवंबर को 120 बोरियों से भरा ट्रक (एमपी 09 जीई 0493) चोरी हुआ था। शिकायत मिलते ही वारदात में तफ्तीश शुरू की गई। जांच के दौरान मुखबिर से अंजड़ में इमरान और उसके साथियों द्वारा ट्रक चोरी कर काटकर बेचने की सूचना मिली। खबर मिलते ही टीमें बनाकर कार्रवाई के लिए रवाना की। टीम ने अंजड़ के धान मंडी थाना क्षेत्र में दबिश दी और छानबीन की तो चोरी के ट्रकों के इंजन सहित अन्य पाटर््स बरामद हुए। इंजन नंबर के आधार पर ट्रकों की पहचान हुई। इसके बाद मुख्य आरोपी इमरान पिता जुम्मा खां (35) निवासी हर की पेड़ी अंजड़, आमिर उर्फ अम्मू पिता साबिर खान (21) निवास फुटला तालाब अंजड़ और अकरम पिता आबिद हुसैन (48) निवासी धान मंडी अंजड़ (बड़वानी) को गिरफ्तार कर खंडवा लाया गया। कार्रवाई में आरोपियों के कब्जे से चोरी का 120 बोरी सोयाबीन कीमती आठ लाख, एक ट्रक कीमती दस लाख का माल बरामद किया गया। इसके अलावा खंडवा, धार, देवास, हरदा सहित अन्य जिलों में दो करोड़ से कीमती सामान की चोरी करना आरोपियों ने कबूला हैं।
कैमरों से बचते हुए खेतों में छिपाते थे ट्रक

आरोपी वारदात करने के पहले उक्त क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों की रैकी करते थे। जिस मार्ग पर कैमरे नजर आते तो आरोपी उसके रास्ते का वारदात करने में उपयोग नहीं करते थे। पंधाना से ट्रक चोरी कर आरोपी ग्रामीण मार्गों से होते हुए अंजड़ पहुंचे। जहां सोयाबीन अन्य स्थान पर खाली किया और खेतों के बीच सुनसान क्षेत्र में ट्रक छिपा दिया। करीब दो से तीन दिन बाद आरोपी इमरान के खेत में ट्रक ले जाकर काटा और टुकड़े-टुकड़े कर दिया। ट्रक के पॉटर््स कबाड़ में बेच दिए ताकि पुलिस की गिरफ्त में न आ सके। ठीक इसी तरह अन्य वारदातों में चोरी किए ट्रक भी आरोपियों ने काटकर बेचे है।

[MORE_ADVERTISE1]

अंजड़ में पकड़ाए तो पड़ोसी जिलों में करने लगे चोरी

आरोपी इमरान को पूर्व में चोरी के मामले में अंजड़ पुलिस ने पकड़ा था। इसके बाद से आरोपी ने स्थानीय क्षेत्रों में चोरी करना छोड़ दिया और अपनी गैंग बनाई। गैंग के सभी आरोपी अंजड़ मंडी में ड्राइवर का काम करते थे। गिरोह तैयार कर आरोपियों ने पड़ोसी जिलों में चोरी की वारदातें करना शुरू किया। वहीं पुलिस से बचने के लिए ट्रक काटकर बेचते थे।
अंजड़ के व्यापारियों को बेचते थे चोरी का माल

आरोपियों से पूछताछ में चोरी का माल अंजड़ के स्थानीय व्यापारियों को बेचना सामने आया है। मंडी में काम करते समय आरोपियों और व्यापारियों की पहचान थी। इसी पहचान के भरोसे आरोपियों ने चोरी का माल व्यापारियों को बेचना शुरू किया। कीमती माल आरोपी कम कीमत में व्यापारियों को बेचते थे। मामले में पुलिस तफ्तीश कर रही है। जल्द ही चोरी का माल खरीदने वाले व्यापारियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तारी की जाएगी। इधर, सूत्रों की मानें तो अंजड़ में ट्रकों को काटने और भारी वाहनों की बॉडी बनाने का बड़े स्तर पर काम होता है।
आरोपियों के लोकल कनेक्शन खंगाल रही पुलिस
मामले में पुलिस आरोपियों के लोकल कनेक्शन खंगाल रही है। पुलिस को संदेह है कि आरोपियों को ट्रक और माल की सूचना किसी स्थानीय व्यक्ति द्वारा दी जाती थी। क्योंकि आरोपी सीसीटीवी कैमरों वाले मार्ग का उपयोग नहीं करते थे। वह ग्रामीण क्षेत्रों के वैकल्पिक मार्गों से चोरी कर फरार होते थे। जबकि सभी आरोपी बड़वानी जिले के हैं। ऐसे में उन्हें मार्ग, कैमरों और माल से भरे ट्रकों की सटीक जानकारी होना जांच का विषय है। साइबर टीम लगातार आरोपियों से जुड़े मोबाइल नंबरों की कॉल डिटेल खंगाल रही है।

[MORE_ADVERTISE2]

दो साथी हरदा पुलिस ने दबोचे

इधर, आरोपी इमरान की गैंग के दो साथियों को हरदा पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से 300 बोरी सोयाबीन जब्त किया गया है। आरोपियों ने हरदा में 4 दिसंबर को सोयाबीन से भरा ट्रक (एमएच 18 बीजी 1072) चोरी किया था।
कार्रवाई टीम को दस हजार का इनाम

वारदात में तफ्तीश कर आरोपियों की गिरफ्तारी करने वाली टीम को एसपी डॉ. सिंह ने दस हजार रुपए इनाम की घोषणा की। टीम में पंधाना टीआई जेयू सिद्दीकी, बोरगांव बुजुर्ग चौकी प्रभारी राधेश्याम मालवीय, एसआई सुनील घावरी, यशवंत बड़ोले, एएसआई राजू पाटिल, सूरज पाटिल, प्रधान आरक्षक लखनलाल, अनिरुद्ध दुबे, केशर सिंह, राजेश मिश्रा, धर्मेंद्र चौहान, जितेन्द्र राठौर सहित अन्य शामिल थे।

[MORE_ADVERTISE3]