स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मुंह पर काला कपड़ा बांधा, सीसीटीवी कैमरे बंद किए फिर बदमाशों ने की हैरतअंगेज वारदात

deepak deewan

Publish: Dec 10, 2019 15:01 PM | Updated: Dec 10, 2019 15:01 PM

Khandwa

काला कपड़ा बांधा, सीसीटीवी कैमरे बंद किए

खंडवा. नारायण नगर में रविवार रात 2 से 2.30 बजे के बीच लुटेरों ने पीएनबी के हेड कैशियर को रॉड से पीटकर घर में लूटपाट की। लुटेरों ने कैशियर की पत्नी से पहले गहने मांगे, नहीं देने पर झूमाझटकी कर सोने की चैन और कंगन छीन लिए। बाद में अलमारी की चाबी मांगी। अलमारी खुली होने पर वहां से तीन लाख की नकदी और गहने ले गए। पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर वारदात करने वाले तीन बदमाश और उनके चौथे साथी की तलाश कर रही है।


पंजाब नेशनल बैंक शाखा निगम चौक में हेड कैशियर जगदीश वानखेड़े (58) नारायण नगर स्थित निवास पर शिक्षिका पत्नी अलका वानखेड़े (54) के साथ कमरे में सोये थे। पीएनबी सिविल लाइन में रिकॉर्ड कीपर बेटा शुभम वानखेड़े बैंक सहकर्मी अनमोल गुप्ता के साथ दूसरे रूम में था। इस दौरान रात 2 बजे तीन नाकाबपोश लुटेरे बाउंड्रीवाल फांद घर में घुसे। सीसीटीवी कैमरा देख उस पर कपड़ा डाल दिया और पीछे के दरवाजे की कुंडी पत्थर व रॉड से तोड़ दी। अंदर पहुंच शुभम के कमरे को बाहर से बंद कर दिया। लुटेरों ने दूसरे कमरे में सो रहे हेड कैशियर जगदीश को जगाया और पूछा नकद व गहने कहां रखे हैं। चिल्लाने की कोशिश की तो लुटेरों ने सिर पर रॉड दे मारी। इससे खून से लथपथ हो गए। आवाज सुन बाजू में सो रही पत्नी अलका जाग गई। लुटेरों ने उन्हें चुप रहने का बोला और गले, हाथ में पहने गहने देने का कहने लगे। आनाकानी पर झूमाझटकी कर गले से चेन, हाथ से अंगूठी व कंगन छीन लिए।


तीनों लुटेरों ने मुंह पर काला कपड़ा बांध रखा था
वारदात के दौरान तीनों लुटेरों ने मुंह पर काला कपड़ा बांध रखा था। घर की लाइट बंद रखी। टॉर्ज के उजाले में वारदात को अंजाम दिया। घटनाक्रम के बाद आरोपी भागे, लेकिन कुछ देर बाद वापस वारदात स्थल की ओर आए थे। आसपास के लोगों ने संदिग्धों को क्षेत्र में देखा। आरोपी वारदात के दौरान शुद्ध हिंदी और खंडवा की भाषा बोल रहे थे। उनकी उम्र करीब 30 से 32 वर्ष के बीच थी। इधर, हेड कै शियर के घर में आठ सीसीटीवी कैमरे लगे हैं लेकिन कैमरे करीब तीन माह से बंद पड़े हैं। लुटेरों ने पड़ोसी के घर की भी खिड़की खोली थी। पड़ोसी के कैमरे भी कुछ दिनों से बंद हैं।

[MORE_ADVERTISE1]