स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पटवारी ने मुंह में चबाए 500 के नोट, लोकायुक्त टीम ने पेट में घूंसे मारकर निकलवाए

Manish Geete

Publish: Jan 22, 2020 11:40 AM | Updated: Jan 22, 2020 11:40 AM

Khandwa

रिटायर शिक्षक से जमीन के नामांतरण के लिए मांग रहा था पटवारी रिश्वत...।

खंडवा। लोकायुक्त टीम के सामने उस समय अजीबोगरीब स्थिति बन गई, जब उसने चार हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए एक पटवारी को पकड़ा और रिश्वतखोर पटवारी 500 रुपए के नोट मुंह में रखकर चबाने लगा। इस पर लोकायुक्त पुलिस के अफसरों ने तुरंत ही उसके पेट में घूंसे मारना शुरू कर दिया और रुपए मुंह में से बाहर उगलवा लिए।

मामला खंडवा की बाहेती कॉलोनी का है। एक पटवारी को रिटायर्ड शिक्षक से चार हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए मंगलवार को पकड़ा था। लोकायुक्त की पकड़ में आते ही पटवारी ने मुंह में नोट दबा लिए और वहां से भागने लगा। पटवारी को भागता देख लोकायुक्त की टीम ने उसे पकड़ लिया और पेट में घूंसे मारकर नोट बाहर निकला लिए। इसके बाद आरोपी पटवारी के भाई ने लोकायुक्त पर मारपीट का आरोप लगाया है।

 

[MORE_ADVERTISE1]lokahukt.jpg[MORE_ADVERTISE2]

क्या है मामला
केंद्रीय विद्यालय के सेवानिवृत्त शिक्षक मांगीलाल प्यासे की सुरगांव जोशी में छह एकड़ जमीन है, जिसमें छह भाइयों का हिस्सा है। जमीन नामांतरण कराने के लिए प्यासे ने छैगांवमाखन तहसील में आवेदन दिया था। यहां पदस्थ पटवारी राजेश धात्रक ने जमीन नामातंरण करने के बदले प्रत्येक भाई से 10-10 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी। जिसमें मांगीलाल प्यासे अपने हिस्से की जमीन नामांतरण के लिए 8 हजार रुपए देने को राजी हुए थे। मांगीलाल ने पटवारी राजेश धात्रक को दो हजार रुपए पहले दिए थे, लेकिन वो नामांतरण न करते हुए बार-बार रुपए की मांग कर रहा था। जिसके बाद आवेदक ने लोकायुक्त पुलिस को शिकायत की थी।


साक्ष्य मिटाने का किया प्रयास
खुद को घिरा देख पटवारी ने साक्ष्य मिटाने का भरसक प्रयास किया। आरोपी राजेश धात्रक पटवारी से पहले पीजीडीसीए कोचिंग संचालित करता था, साथ ही वकालत की पढ़ाई भी की है। लोकायुक्त की कार्रवाई से बचने के लिए आरोपी ने घूस की राशि चार हजार रुपए 500-500 रुपए के आठ नोट चबा दिया। साथ ही हाथ को मिट्‌टी में मिलाकर साफ करने की कोशिश की ताकि हाथ धुलने पर पानी का रंग लाल न सके।

थाने में हंगामा
मंगलवार सुबह 11.40 बजे मांगीलाल बाहेती कॉलोनी स्थित पटवारी के घर पहुंचे थे। यहां तीसरी मंजिल पर पटवारी राजेश धात्रक ने उन्हें बुलाया और रिश्वत की राशि 4 हजार रुपए ली। जिसके बाद आवेदक ने खिड़की से टोपी उतारकर लोकायुक्त पुलिस को इशारा किया। लोकायुक्त पुलिस पटवारी को पकड़कर थाने ले आई। यहां पहुंचे पटवारी के भाई संतोष धात्रक ने लोकायुक्त पुलिस पर मारपीट का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें बाहर निकाला। घटना की जानकारी मिलने पर जिलेभर के पटवारी भी थाने में एकत्र हो गए थे।

[MORE_ADVERTISE3]