स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सेवादास के मुकद्दर में लिखा था तो मिला, सबको बारी-बारी से मिलेगा पद, नियति पर भरोसा रखो

Amit Jaiswal

Publish: Dec 09, 2019 12:30 PM | Updated: Dec 09, 2019 12:30 PM

Khandwa

सबको साधने के लिए बोले सांसद... नए जिलाध्यक्ष की ताजपोशी पर भाजपा जिला कार्यालय में सांसद ने अन्य दावेदारों को भी साधने की कोशिश की, कहा- जो निर्णय हुआ है वो सोने पर सुहागा है, सभी साथी और वरिष्ठजन को कंधे से कंधा मिलाकर चलना है

खंडवा. 'न किसी को गिराया, न खुद को उछाला, कटा जिंदगी का सफर धीरे-धीरे..., और जो पहुंचे छलांगे लगाकर, वहां ये भी पहुंचे... मगर धीरे-धीरे। सांसद नंदकुमार सिंह चौहान ने इन पंक्तियों के साथ भाजपा के नए जिलाध्यक्ष सेवादास की ताजपोशी कराई।

भाजपा जिला कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में सांसद चौहान बोले- एक बांके नौजवान के हाथ में बागडोर है, जिसका दिल पाक-साफ है। सब भाइयों से आग्रह है कि सबको मजबूती से कंधा मिलाना है। किसको क्या मिलता है, ये भी भविष्य के गर्भ में छिपा हुआ है, उसकी चिंता मत करो। नसीब में होगा तो आएगा, पार्टी समय आने पर देती है। नियति फैसला करती है। सबको मिलेगा, बारी-बारी से। जिलाध्यक्ष पद की दौड़ में शामिल संतोष सोनी, राजपाल सिंह चौहान, अरुण सिंह सहित अन्य को साधने की कोशिश करते हुए सांसद ने कहा- 'ओ देने वाले तूने देने में कुछ भी कमी न की, अब किसको क्या मिला, ये मुकद्दर की बात है। नियति निर्णय करती है और जो निर्णय हुआ, वो सोने में सुहागा है। मैं सबकी तरफ से, जो यहां है, उनकी तरफ, उनकी तरफ से भी सेवादास भाई तुमको शुभकामनाएं देता हूं। विधायक देवेंद्र वर्मा, राम दांगोरे, महापौर सुभाष कोठारी सहित अन्य ने भी संबांधित किया।

कोटवाले से कहा- हिस्से में आती हैं बुराइयां, नंदन को चित्रगुप्त की उपमा
जिलाध्यक्ष हरीश कोटवाले से सांसद ने कहा- जिन कठिन परिस्थितियों में जिला चलाया, सब साक्षी हैं। बहुत अच्छा काम किया, परिणाम दिए। हिस्से में कभी भलाई-कभी बुराइयां आती रहती हैं। तुम भूतपूर्व नहीं, अभूतपूर्व जिलाध्यक्ष हो। उनके कार्यालय में नंदन करोड़ी ने चित्रगुप्त का काम किया। ऊ पर का काम है, लिखा-पढ़ी का, डेटा भेजने का, लेने का। काम करते-करते हर इंसान, हरेक को खुश नहीं कर सकता।

कोटवाले नेे कहा- किसी को बुरा लगा हो तो क्षमा चाहता हूं
हरीश कोटवाले ने कहा कि मेरे कार्यकाल में मंडल अध्यक्षों, जिला कार्यकारिणी, महामंत्रियों, उपाध्यक्ष और मंत्री सहित कार्यकर्ताओं ने संगठन को मजबूती देने का काम किया। नई टीम से आग्रह है कि अपनी जवाबदारी समझें, पार्टी को बूथ स्तर तक मजबूत करना है। झोला उठाकर चलने वाला हूं, जहां आदेश करेंगे, चल दूंगा। कार्यकाल में किसी को पद मिला न मिला, योग्यता के आधार पर प्रयास किया, कहीं किसी को बुरा लगा हो तो क्षमा चाहता हूं।

ये भी बोले सांसद
मप्र सरकार की इस डीपी का कटआउट तुम्हारे ही हाथ से निकलेगा। ये ही करना है अपने को 5 साल, सेवादास भाई संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ हैं। सब सेवादास के साथ खड़े होंगे।
जनता की ये हालात है कि कैद में है बुलबुल, सैयद मुस्कुराए, चुप रहा भी न जाए और कुछ कहा भी न जाए, अब पछताए होत का, जब चिडिय़ा चुग गई खेत।
मैंने कमलनाथ सरकार के बारे में संसद में कहा- मप्र सरकार मुफलिसों पर ये अहसान करती है, आंखें छीन लेती है और चश्मे दान करती है।
भाजपा में साधारण परिवार के कार्यकर्ता को परखकर मौका दिया जाता है, जमीन से आने वाले को मौका देते हैं। वो और पार्टियां होंगी जहां पैराशूट से आने वाले को मौका मिलता है।

पहले भाषण में सेवादास बोले- हर कार्यकर्ता खुद को समझे जिलाध्यक्ष
मैं अंतिम पंक्ति का कार्यकर्ता हूं। संगठन को नतमस्तक। संगठन गढ़े चलो, सुपंथ पर बढ़े चलो, भला हो जिसमें देश का, वो काम तुम करे चलो। नंदू भैया को चरणवंदन करता हूं। मंडल अध्यक्ष 19 हैं, विषम संख्या शुभ नहीं मानी जाती, 1 मुझे भी मंडल अध्यक्ष माने, 20 हो जाएंगे। मित्रवत व्यवहार बनाने की कोशिश करेंगे। आज मोहल्ले में दादा से राम की तो उन्होंने पूछा- कौन हो? परिचय दिया तो फिर पूछा कि दिखे नहीं कभी। मैंने कहा- मैं गांव चले जाता था, अपने काम में मगन रहता हूं। खाइ कभी पैदा नहीं होने देंगे। हर कार्यकर्ता खुद को जिलाध्यक्ष माने।

[MORE_ADVERTISE1]