स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

व्यापारी ने कहा- आयुक्त के नाम पर मांगते हो 10-20 रुपए, दूसरे दिन उसकी होटल के अतिक्रमण पर चल गया बुलडोजर

Amit Jaiswal

Publish: Dec 13, 2019 11:54 AM | Updated: Dec 13, 2019 11:54 AM

Khandwa

आयुक्त के नाम पर 10-20 रुपए मांगने की व्यापारी ने कही थी बात... जलती हुई भट्टी पर मारा जेसीबी का पंजा, वाटर कूलर उखाड़कर ले गए, पान के टप के सामने खड़े होकर व्यापारी ने कहा- अब तो मेरी लाश पर से गुजरो।

खंडवा. गंदगी पाए जाने पर जुर्माना राशि को लेकर विवाद करने वाले और आयुक्त के नाम से रुपए मांगने का आरोप लगाने वाले व्यवसायी को ये घटनाक्रम महंगा पड़ गया।

जलेबी चौक स्थित होटल गोकुल पर गुरुवार को निगम का हथोड़ा चला। सुबह 10.30 बजे ही यहां निगम का अतिक्रमण दस्ता पहुंच गया। जगह देखी गई तो सामने आया कि 6 बाय 10 की दुकान के आगे-पीछे सहित दाएं और बाएं तक 15 से 20 फीट अतिक्रमण कर रखा था। यहां टीनशेड तोड़ दिए गए तो वहीं दीवारें भी ढहा दी गई। जेसीबी का पंजा जलती हुई भट्टी पर भी चला। वाटर कूलर को उखाड़कर निगम कर्मचारियों ने वाहन में रख लिया। यहां पान का टप हटाए जाने के दौरान तो व्यापारी सामने आकर खड़ा हो गया कि इसे तो मत हटाओ। टप के सामने खड़े होकर कहा- अब तो मेरी लाश पर से गुजरो।

इस तरह हुआ था विवाद
स्वच्छ सर्वेक्षण-2020 के तहत निगम ने पहल करते हुए किन्नर समुदाय को साथ जोड़ा है और बुधवार को इन्हें साथ लेकर स्वच्छता का अलख जगाने की शुरूआत की गई। तभी गोकुल होटल पर विवाद हो गया। यहां व्यापारी ने प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी मो. शाहीन खान से कह दिया कि आयुक्त के नाम पर 10-20 रुपए मांग कर ले जाते हैं, इसलिए मैं जुर्माना नहीं दूंगा।

आयुक्त के सामने दोहराई बात
गुरुवार को निगम की टीम जब होटल पर अतिक्रमण हटाने पहुंची तो दस्ता प्रभारी अजय सारसर से व्यवसायी ने फोन पर बात कराई। ये जनप्रतिनिधि का था। सारसर ने आयुक्त के निर्देश का हवाला दिया। व्यवसायी जब निगम में आयुक्त हिमांशु सिंह के सामने पहुंचा तो वहां भी विवाद के दौरान कही बात दोहरा दी। इसके बाद तो कार्रवाई का दायरा बढ़ गया।

उपायुक्त ने दिखाए तीखे तेवर, व्यापारी ने जोड़े हाथ
कार्रवाई सुस्त पडऩे लगी तो मौके पर उपायुक्त दिनेश मिश्रा पहुंचे। उन्होंने तीखे तेवर दिखाए और अतिक्रमण दस्ता को तल्ख लहजे में कहा कि कार्रवाई में कोताही नहीं होना चाहिए। होटल व्यवसायी ने यहां हाथ जोड़े। कहा- मेरी गलती हो गई। अब कुछ समय दे दो। हम खुद ही हटा लेंगे। उपायुक्त मिश्रा ने कहा- 1 घंटे में अगर कब्जा नहीं हटा तो पीछे का भी तोड़ देंगे।

अहं पर लगी चोट तो कार्रवाई, पूरे शहर में ऐसे कब्जे
जलेबी चौक क्षेत्र में होटल व्यवसायी द्वारा आयुक्त के नाम पर 10-20 रुपए मांगने की बात कही तो अहं पर चोट लगी और निगम अमले ने ताबड़तोड़ अंदाज में कार्रवाई कर दी। जबकि इस तरह के कब्जे इसी क्षेत्र में अन्य लोगों ने भी कर रखे हैं। इन पर भी कार्रवाई होना चाहिए। अगर निगम ऐसी सख्ती दिखा दे तो पूरा शहर स्वच्छ व सुंदर नजर आने लगेगा। ट्रैफिक व्यवस्था सुधरेगी।

[MORE_ADVERTISE1]