स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

2 सितंबर को विराजेंगे गणपति बप्पा, ऐसे आसान तरीके से सीखे मिट्टी की प्रतिमा बनाना

dharmendra diwan

Publish: Aug 18, 2019 13:11 PM | Updated: Aug 18, 2019 13:11 PM

Khandwa

पत्रिका गणेशोत्सव 2019

खंडवा. रिद्धि-सिद्धि के दाता गणपति बप्पा 2 सितंबर सोमवार को घर-घर विराजेंगे। इसकी तैयारियों में लोग अभी से जुट गए हैं। पीओपी से बनी मूर्तियों पर बैन तो है ही इससे नदी-तालाब का पानी खराब होता है। इसलिए आप इको फ्रेंडली गणेश प्रतिमा घर में ही बना सकते हैं। पत्रिका आपको मिट्टी के गणेश प्रतिमा बनाने की आसान विधि बता रहा है। आप फोटो देखकर या वीडियो के जरिए 6 से 7 स्टेप्स में आसानी से मिट्टी की गणेश प्रतिमा बना सकते हैं।

पीओपी की प्रतिमाओं पर जिले में है बैन
खंडवा. रिद्धि-सिद्धि के दाता गणपति बप्पा 2 सितंबर सोमवार को घर-घर विराजेंगे। इसकी तैयारियों में लोग अभी से जुट गए हैं। इसके लिए शहर में सार्वजनिक स्थानों पर पंडाल बनाकर बड़ी प्रतिमा बनना शुरू हो गई। पीओपी से बनी मूर्तियों पर बैन तो है ही इससे नदी-तालाब का पानी खराब होता है। इसलिए आप इको फ्रेंडली गणेश प्रतिमा घर में ही बना सकते हैं। पत्रिका आपको मिट्टी के गणेश प्रतिमा बनाने की आसान विधि बता रहा है।
आप फोटो देखकर या वीडियो के जरिए 6 से 7 स्टेप्स में आसानी से मिट्टी की गणेश प्रतिमा बना सकते हैं। मूंदी रोड स्थित सिंगाजी कॉलोनी निवासी मनी पाठक मिट्टी की प्रतिमा बनाने में पत्रिका की सहयोगी बनी हैं। वे पिछले चार साल से मूर्ति बनाने का नि:शुल्क प्रशिक्षण दे रही हैं। वे प्रतिमा बेचती नहीं है, कुछ परिचितों को गिफ्ट जरूर कर देती हैं। मनी के अनुसार गणेशजी की छोटी से छोटी प्रतिमा 25 से 30 मिनट में आसानी से तैयार हो सकती है। एक फीट से अधिक ऊंची प्रतिमा डेढ़ से दो घंटे में तैयार हो सकती है।

विसर्जन पर लें एक पौधा लगाने का संकल्प
पत्रिका की अपील की है कि मिट्टी की गणेश प्रतिमा का दसवें दिन विसर्जन करते समय एक पौधा लगाने और उसके बड़े होने तक उसकी देखरेख का भी संकल्प लें।
गणेश प्रतिमा बनाने में लगेगी यह सामग्री
मिट्टी, फेविकॉल, अखबार या मोटा गत्ता, कॉटन, जूट का बोरा। अखबार को चार-पांच दिन पानी में भिगोएं, फिर हाथों से रद्दी को खींचेे।