स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

महेश्वर में शुरू होगी महाआरती, जानिए क्या है इसकी खासियत

deepak deewan

Publish: Oct 19, 2019 11:28 AM | Updated: Oct 19, 2019 11:28 AM

Khandwa

महेश्वर में शुरू होगी महाआरती

महेश्वर. घाट पर बिखरता अहिल्या का वैभव। तट पर गंूजती नर्मदा की स्वरलहरियां। जयघोष और घंटानाद के स्वर। पवित्र नगरी महेश्वर में आस्था और श्रद्धा के यह संयोग रोजाना ही सूर्योदय-सूर्यास्त के समय बनते हैं। धर्म के इस सौपान में 20 अक्टूबर से एक नया अध्याय जुडऩे जा रहा है। निमाड़ांचल में मां नर्मदा के उत्तर तट पहली बार मां गंगा की तर्ज पर रेवा की आरती होगी। यह आरती प्रति रविवार रात 7.30 बजे से होगी।


20 को रात 8 बजे होगी आरती
वैसे तो यहां नर्मदा तट पर आरती लगभग बीस वर्षो से मां नर्मदा भक्त मंडल और मां रेवा आरती समिति के द्वारा की जा रही है। इसमें कई धार्मिक,सामाजिक, राजनितिक हस्तियों के साथ कई तपस्वी संत-मंहतों ने भाग लेते हुए आरती का पुण्य लाभ लिया है। प्रति रविवार होने वाली आरती में तट पर क्षेत्र के प्रसिद्ध संतों का दर्शन व संत्सग का पुण्य अवसर भी भक्तों को मिलेगा। 20 अक्टूबर की रात 8 बजे नर्मदा तट के सामने घाट से संतश्री टाटम्बरी बाबा के साथ अन्य कई विद्वान संतों की उपस्थिति में यह आरती होगी। संस्कृत विद्यापीठ के विद्वान पंडित वैदिक मंत्रोच्चार करेंगे। संतों मुख्य अतिथि सामाजिक कार्यकर्ता देवेन्द्र साधौ होंगे।
आरती से महेश्वर को मिलेगी नई ऊंचाइयां
भक्तों ने बताया मां नर्मदा जगत मां होने के साथ सभी जीवों की समानता के साथ प्यास बुझाने वाली और आशीर्वाद देने वाली है। महेश्वर के नर्मदा तट पर मां नर्मदा की आरती प्रति रविवार को मां गंगा की तरह किए जाने का प्रयास किया जा रहा है। यह प्रयास महेश्वर को एक नई ऊंचाई देगा। इस प्रयास को सार्थक बनाने के लिए इस्मित भाटिया, दिलीप पाटीदार, आशीष मेहता और उनकी टीम काम में जुटी है।