स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

खुद को चारों ने बताया दिल्ली पुलिस का अफसर, कहा- आपके बैग में है पिस्टल, फिर मिर्ची छोंक चेन्नई से ले उड़े...

Muneshwar Kumar

Publish: Jan 17, 2020 20:51 PM | Updated: Jan 17, 2020 20:51 PM

Khandwa

चारों आरोपियों को चेन्नई पुलिस ट्रांजिट रिमांड पर ले गई

खंडवा/ क्राइम ब्रांच, दिल्ली पुलिस और फर्जी बिजनेसमैन बनकर ये चारों देश भर के बड़े-बड़े शहरों में घूम-घूमकर वारदात को अंजाम देते थे। खंडवा पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किए गए चारों बदमाशों को चेन्नई पुलिस ने ट्रांजिट रिमांड पर चेन्नई ले गई है। चेन्नई में भी इन लोगों ने लूट के एक वारदात को दिल्ली पुलिस के अफसर बनकर अंजाम दिया। इस गैंग का नाम ईरानी गैंग है।

[MORE_ADVERTISE1]

पुलिस के अनुसार इस गैंग में शामिल चारों अपराधियों ने चेन्नई में सात बड़ी वारदातों को अंजाम दिया है। वहां लूट की घटनाओं को अंजाम देने के बाद गोव पहुंचे थे। यहां से सभी ट्रेन से दिल्ली की ओर जा रहे थे। लेकिन बुधवार को खंडवा स्टेशन पर गोवा एक्सप्रेस के एसी कोच से गिरफ्तार किया था। शुक्रवार को चेन्नई पुलिस के एसीपी लक्ष्मण, एलीफेंट गेट थाने के इंस्पेक्टर डीआर राजकुमार और कांस्टेबल कोतवाली थाना पहुंचे।

[MORE_ADVERTISE2]57.jpg[MORE_ADVERTISE3]

चेन्नई पुलिस के एसीपी लक्ष्मण ने कोतवाली पुलिस को बताया कि इन आरोपियों ने चेन्नई में सात लूट और ठगी के वारदात को अंजाम दिया है। दिनभर चली कार्रवाई के बाद शाम चार बजे कोतवाली पुलिस ने इन्हें कोर्ट में पेश किया गया। जहां चेन्नई पुलिस ने चारों आरोपियों की ट्रांजिट रिमांड की मांग की। अपराध को देखते हुए मजिस्ट्रेट ने आरोपियों को ट्रांजिट रिमांड पर भेजा।

56_1.jpg

दिल्ली पुलिस का अफसर हूं
वहीं, चेन्नई के एलीफेंट गेट थाना पुलिस के मुताबिक दस जनवरी की रात को आंध्र प्रदेश के नेल्लूर निवासी दिनेश कुमार चेन्नई के टैक्स रोड से चेन्नई सेंट्रल रेलवे स्टेशन की ओर जा रहे थे, उसी दौरान बाइक पर आए तीन-चार बदमाशों ने दिनेश को रोककर खुद को दिल्ली पुलिस का अधिकारी बताया और कहा कि उन्हें बैग में पिस्टल होने का संदेह है। व्यापारी दिनेश जब आगे बढ़ने लगा तो उनमें से एक ने उनकी आंख में मिर्च पाउडर में डाल दिया और बैग मौके से छिनकर फरार हो गए।

बैग में 4.3 किलो सोना था, जिसकी कीमत 1.70 करोड़ रुपये है। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी थी। अभ खंडवा पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

55_1.jpg

कोतवाली पुलिस ने आरोपी हैदर अली, मेहंदी हसद, शाहिद और हसन सभी निवासी संजय नगर कॉलोनी भोपाल से पूछताछ की है। सूत्रों के अनुसार यह बात भी सामने आई है कि गैंग में आरोपियों के परिचित शामिल हैं। पूछताछ में बताए साथियों के नाम अनुसार पुलिस ने तलाश शुरू कर दी है। भोपाल सहित अन्य शहरों में इनकी तलाश जारी है।


दूसरे राज्यों की पुलिस भी करेगी पूछताछ
गैंग के आरोपियों ने देश के अलग-अलग राज्यों में वारदातों को अंजाम दिया है। जयपुर, बेंगलुरु, अहमादाबाद, कोलकाता, यूपी के नाम सामने आ रहे हैं। खंडवा पुलिस से इन राज्यों की पुलिस इरानी गैंग के आरोपियों की जानकारी मांग रही है। चेन्नई से लाने के बाद इन आरोपियों से कोलकाता, अहमदाबाद, जयपुर सहित अन्य राज्यों की पुलिस भी पूछताछ करेगी।