स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

खंडवा जंक्शन पर 100 फीट की ऊंचाई पर लहराएगा 30 फीट का तिरंगा

Riyaz Sagar

Publish: Jul 19, 2019 21:31 PM | Updated: Jul 19, 2019 21:31 PM

Khandwa

खंडवा. चार रेलवे झोन को जोडऩे वाले देश के एकमात्र खंडवा जंक्शन पर गौरव और सम्मान का प्रतीक राष्ट्रीय ध्वज जल्द लहराया जाएगा। इसके लिए मंडल स्तर पर प्रक्रिया शुरू हो गई है।
जानकारी के अनुसार रेलवे परिसर में 100 फीट ऊंचाई पर तिरंगा झंडा लहराया जाएगा। इसकी लंबाई 30 फीट और चौड़ाई 20 फीट होगी। रेलवे ने व्यस्ततम और ऐतिहासिक महत्व वाले जिला मुख्यालयों के रेलवे स्टेशनों पर तिरंगा झंडा लगाने का निर्णय लिया। इसके तहत खंडवा में भी तिरंगा लहराने की तैयारियां शुरू की गई हैं। रेल अधिकारियों के अनुसार तिरंगा स्टेशन के सामने सर्कुलेटिंग एरिया में लहराया जाएगा। सर्कुलेटिंग एरिया का विस्तार किया जाना है। इससे तिरंगा लगाने में देरी हो रही है। सुर्कलेटिंग एरिया का विस्तार होने के बाद झंडा लगाया जाएगा।
झंडे को नीचे उतारने की नहीं होगी जरूरत

खंडवा. चार रेलवे झोन को जोडऩे वाले देश के एकमात्र खंडवा जंक्शन पर गौरव और सम्मान का प्रतीक राष्ट्रीय ध्वज जल्द लहराया जाएगा। इसके लिए मंडल स्तर पर प्रक्रिया शुरू हो गई है।
जानकारी के अनुसार रेलवे परिसर में 100 फीट ऊंचाई पर तिरंगा झंडा लहराया जाएगा। इसकी लंबाई 30 फीट और चौड़ाई 20 फीट होगी। रेलवे ने व्यस्ततम और ऐतिहासिक महत्व वाले जिला मुख्यालयों के रेलवे स्टेशनों पर तिरंगा झंडा लगाने का निर्णय लिया। इसके तहत खंडवा में भी तिरंगा लहराने की तैयारियां शुरू की गई हैं। रेल अधिकारियों के अनुसार तिरंगा स्टेशन के सामने सर्कुलेटिंग एरिया में लहराया जाएगा। सर्कुलेटिंग एरिया का विस्तार किया जाना है। इससे तिरंगा लगाने में देरी हो रही है। सुर्कलेटिंग एरिया का विस्तार होने के बाद झंडा लगाया जाएगा।
झंडे को नीचे उतारने की नहीं होगी जरूरत

रेल जानकारों की मानें तो अधिक ऊंचाई पर तिरंगा फहराने को स्मारकीय ध्वज के रूप में जाना जाता है। इसे कभी नीचे नहीं उतारा जाता। सूर्यास्त होने के बाद भी उसे रोशन रखा जाता है। इसके लिए झंडे के लिए फोकस्ड लाइट्स भी लगाई जाएंगी। साथ ही झंडे की सुरक्षा का काम रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के जिम्मे रहेगा।