स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दर्द से तड़पती रही प्रसूता, अस्पतालों के चक्कर लगाते रहे परिजन

deepak deewan

Publish: Dec 04, 2019 10:28 AM | Updated: Dec 04, 2019 10:28 AM

Khandwa

तड़पती रही प्रसूता

खंडवा. पंधाना ब्लॉक के स्वास्थ्य केंद्रों में मरीजों के उपचार में लापरवाही का मामला सामने आया है। सोमवार रात दर्द से कराहती प्रसूता जननी एक्सप्रेस की मदद से एक स्वास्थ्य केंद्र से दूसरे स्वास्थ्य केंद्र पर भटकती रही। लेकिन उपचार नहीं मिला। ऐसे में तीसरे स्वास्थ्य केंद्र पर जाते समय रास्ते में भी प्रसूता ने बच्चे को जन्म दे दिया। जननी एक्सप्रेस के स्टॉप ने सतर्कता बरतते हुए जच्चा-बच्चा को सुरक्षित सिंगोट स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया।

दो स्वास्थ्य केंद्रों में नहीं मिला इलाज, तीसरे पर जाते समय रास्ते में हुआ प्रसव

दरअसल, पंधाना ब्लॉक के ग्राम हीरापुर में मनीषा सिंह (20) को सोमवार रात करीब 10.15 बजे प्रसव पीड़ा हुई। परिजन ने जननी एक्सप्रेस को सूचना दी। गुड़ीखेड़ा की जननी दूसरे प्वाइंट पर व्यस्त होने के कारण खारकलां की जननी एक्सप्रेस हीरापुर पहुंची। प्रसूता को लेकर गुड़ी उप स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंची। यहां मौजूद स्टॉप ने कहा मरीज हमारे सेक्टर का नहीं है। उसे खंडवा ले जाओ। इस दौरान स्टॉप ने प्रसूता का चेकअप भी करना उचित नहीं समझा। गुड़ी केंद्र पर उपचार नहीं मिलने पर दर्द से तड़प रही प्रसूता को जननी चालक लोकेश तुरंत पिपलौद उप स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचा। लेकिन यहां केंद्र पर ताला लगा हुआ था। ऐसे में वह सिंगोट स्वास्थ्य केंद्र की ओर रवाना हुआ।

रास्ते में ही प्रसूता ने गाड़ी में ही बच्चे को जन्म दे दिया। जच्चा-बच्चा को सुरक्षित सिंगोट केंद्र पहुंचाया। जहां मौजूद नर्स क्षमा सोनी ने दोनों को भर्ती कराया और उपचार शुरू कराया। यह कोई एक मामला नहीं है ग्रामीण क्षेत्रों में अक्सर इस प्रकार के सामने आते हैं। कुछ दिनों पहले भी बोरखेड़ा के डिलीवरी केस में गुड़ी केंद्र से मरीज को बगैर उपचार दिए खंडवा रवाना कर दिया गया।

[MORE_ADVERTISE1]