स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Railway ने निकाला रास्ता, छनेरा के साथ जोड़ दिया नया हरसूद का नाम

deepak deewan

Publish: Dec 03, 2019 21:03 PM | Updated: Dec 03, 2019 21:40 PM

Khandwa

Railway ने निकाला रास्ता

हरसूद. इंदिरा सागर बांध परियोजना के कारण क्षेत्र में कई बदलाव हुए। सबसे बड़ी बात तो यह थी कि हरसूद शहर ही पूरा डूब गया। इसके डूबने के बाद विस्थापितों को छनेरा में बसाया गया पर पुराने हरसूद के बाशिंदे अपने शहर केा भुला नहीं सके। ये विस्थापित छनेरा रेलवे स्टेशन के साथ हरसूद का नाम जोडऩे को लेकर मशक्कत करते आ रहे हैं।

पिछले 14-15 सालों से इंदिरा सागर बांध परियोजना के विस्थापित इस काम में लगे हुए हैं। 15 साल पहले हरसूद विस्थापन के पूर्व रेलवे स्टेशन भी था जिसका नाम हरसूद ही हुआ करता था। बाद में केवल छनेरा रेलवे स्टेशन बचा। विस्थापितों की मांग यही है कि छनेरा के साथ ही नया हरसूद भी लिखा जाए। इसके लिए हर तरह की कवायद की जा चुकी है पर यह काम बेहद मुश्किल है। ऐसे में लोगों को संतुष्ट करने के लिए रेलवे ने एक वैकल्पिक कदम उठा लिया। यहां बने एक स्वागत द्वार में छनेरा के साथ नया हरसूद नाम जोड़ दिया।


लोगों में हर्ष

हाल में रेलवे प्रशासन के लगाए स्वागत द्वार पर छनेरा के साथ नया हरसूद नाम जुडऩे से लोगों में हर्ष है। स्टेशन पर छनेरा के साथ नया हरसूद को जोडऩे के लिए हरसूद विधायक विजय शाह, पूर्व सांसद ज्योति धुर्वे एवं पत्र लेखक संघ तथा स्थानीय नागरिकों ने डीआरएम, जीएम आदि से कई बार भेंट की। स्वागत द्वार पर छनेरा के साथ नया हरसूद नाम जुडऩे पर विधायक शाह के प्रति आभार व्यक्त किया गया है।

[MORE_ADVERTISE1]