स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बिजली कंपनी की लूट खपत से चार गुना रीडिंग का थमा रहे बिजली बिल

dharmendra diwan

Publish: Sep 20, 2019 12:03 PM | Updated: Sep 20, 2019 12:03 PM

Khandwa

नाराज उपभोक्ताओं ने कंपनी कार्यालय जाकर की शिकायत
पैसे लेकर बिल न भरने वाले मीटर पर होगी एफआईआर

खंडवा. मप्र पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी वैसे तो 24 घंटे उपभोक्ता को बिजली की सुविधा तो उपलब्ध नहीं करा पा रही। लेकिन वसूली करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही। बिजली कंपनी वसूली करने में इतने आगे की निर्धारित खपत से 3-4 गुना अधिक रीडिंग के बिल थमा रही, जो उपभोक्ता की क्षमता से बाहर है। बिजली कटने व अंधेरे में रहने का डर के आगे उपभोक्ताओं यह बिल जमा करने को बेवस है। यह परेशानी एक-दो उपभोक्ताओं की नहीं है। शहर में कई ऐसे उपभोक्ता है। जिनके बिल निर्धारित खपत से अधिक आ रहे, लेकिन बिजली कंपनी की इस गडगड़़ी को कई उपभोक्ता समझ नहीं पा रहे, जिससे बिजली कंपनी की लूट जारी है। मनमाने बिलों से परेशान बिजली उपभोक्ताओं ने गुरुवार को खंडवा शहर संभाग आनंदनगर व कहारवाड़ी जोन दफ्तर पहुंचे और विरोध प्रकट किया।

यह बोले उपभोक्ता यह बोले उपभोक्ता

शॉर्ट सर्किट से केबल जली, फिर भी बिल
लवकुशनगर निवासी अशोक जोशी ने बताया मेरे घर में ग्राउंड और फस्र्ट फ्लोर पर दो कनेक्शन है। फस्र्ट फ्लोर की शॉर्टसर्किट से तीन माह से सारी केबल जल गई। इससे सुधरवाया नहीं व ऊपर उपयोग नहीं करते। ऐसे में बिजली खपत का सवाल नहीं उठता। फिर भी हर माह 190 रीडिंग का बिल दे रहे हैं, यह सीधी मनमानी है।

मीटर खराब, फिर भी 16 हजार रुपए बिल
शनिमंदिर क्षेत्र के अशो दशोरे ने बताया मैं किराए के मकान में रहकर गुब्बारें बेचने का कार्य करता हूं। मकान मालिक आशाबाई के नाम से मीटर है। मीटर में खराबी होने पर नया मीटर बदलवाएं तीन माह हो चुके है। फिर भी 13,14 हजार रुपए बिल दे रहे। सितंबर में 16 हजार रुपए बिल आने की शिकायत लेकर पहुंचा। एई ने गलती मानी और गरीब अशोक को करेक्शन कर 980 रुपए बिल दिया। जिससे उपभोक्ता ने जमा किया।

खपत से 800 से 900 रीडिंग ज्यादा का बिल
किशोरनगर निवासी सौरभ शर्मा ने बताया कि पिता सूरजचंद्र शर्मा के नाम से कनेक्शन है। तीन माह से कंपनी खपत से 800 से 900 रीडिंग ज्यादा का बिल दे रही। जुलाई में 1537 रीडिंग का 13,351 रु. बिल दिया। शिकायत पर 1126 रीडिंग कम करेक्शन कर 411 रीडिंग का 3375 रु.बिल दिया। अगस्त भी 1184 रीडिंग का 10332 रु. बिल दिया। करेक्शन में कम कर 420 रीडिंग का 3992 रुपए बिल जमा किया। सितंबर में 904 रीडिंग का 8119 रुपए बिल थमा दिया। गुरुवार को करेक्शन नहीं हुआ।

बिजली कंपनी के इस नंबर पर करें शिकायत
ट्रोल फ्री नंबर :1912
लैडलाइन नंबर: 073322223780
मोबाइल नंबर : 8989989540
मोबाइल नंबर : 8989983705

रुपए लेकर बिल न भरने वाले मीडर रीडर होगी एफआईआर

कहारवाड़ी झोन बड़ा कब्रिस्तान क्षेत्र के लोगों ने मीडर रीडर पर रुपए लेने व बिल जमा नहीं करने का आरोप लगाया। सायरा बानो ने बताया कि पिछले माह 4500 रुपए बिल आया। मीडर रीडर को बिल जमा करने के लिए रुपए दिए। लेकिन उसने जमा नहीं किए। सितंबर में 10350 रुपए का बिल थमाया गया। जमुनाप्रसाद ने ताया पिंकी बाई के नाम से कनेक्शन है। रीडर ने जून माह में 2600 रुपए बिल। लेकिन जमा नहीं किए। सितंबर में अब 3074 रुपए का बिल आया। जिसमें 2600 रुपए पिछले माह का बिल है। बिजली कंपनी ने उस मीटर रीडर को निकाल दिया है। अब उसके खिलाफ एफआईआर कराने की तैयारी है।

बिल भरने के नाम पर उपभोक्ताओं से रुपए वाले मीटर रीडर के खिलाफ पिछले माह भी शिकायत मिली थी। उसे हटा दिया गया। अब फिर से शिकायत मिली। उसके खिलाफ एफआईआर के निर्देश एई को दिए है। खपत से अधिक रीडिंग क्यों आ रही। इसकी जांच की जाएगी। जहां गड़बड़ी मिलेगी। सुधार कराएंगे। ताकि उपभोक्ता को परेशानी न हो।
मनेंद्र गर्ग, कार्यपालन यंत्री, विद्युत वितरण कंपनी, खंडवा शहर संभाग।