स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आठ दिन पुराने शव में पड़े कीड़े, मछलियों ने नोंच खाए चेहरा और हाथ-पैर

Jitendra Tiwari

Publish: Sep 16, 2019 07:03 AM | Updated: Sep 16, 2019 00:25 AM

Khandwa

पिपलौद थाना क्षेत्र के ग्राम रामपुरा में भामनदी के भैरव घाट के पास मिला अज्ञात शव

खंडवा. पिपलौद थाना क्षेत्र के ग्राम रामपुरा में रविवार सुबह भाम नदी किनारे क्षत-विक्षत अवस्था में अज्ञात शव मिला है। शव का शरीर जलीय जंतुओं ने नोंच खाया है। इस कारण उसकी पहचान करना मुश्किल हो रहा है। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव का पंचनामा बनाया। जानकारी के अनुसार भाम नदी पर बने भैरव घाट के पास सुबह करीब 11 बजे अज्ञात शव पड़ा था। ग्रामीण घाट पर पहुंचे तो उन्हें दुर्गंध आई। आसपास देखने पर शव दिखा। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस मौके पर पहुंची और तफ्तीश शुरू की। शव का चेहरा और हाथ-पैर मछलियों ने नोंच खाए हैं। चेहरा कंकाल में बदल गया है। वहीं शव करीब आठ दिन पुराना होने के कारण कीड़े पड़ गए। मृतक की उम्र 40-45 वर्ष है। हाथ में राखी व धागा पहने है। चेहरा सुरक्षित नहीं होने के कारण शिनाख्त नहीं हो पाई है। मामले में पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है। प्राथमिक जांच में मृतक की मौत पानी में डूबने से होना सामने आ रहा है। मामले में पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है।

गुमशुदगी मामलों की छानबीन शुरू
पिपलौद पुलिस ने आसपास की थाना पुलिस को मामले की सूचना दी है। वहीं इस पखवाड़े में दर्ज हुई गुमशुदगी के मामलों की छानबीन की जा रही है। पिपलौद थाना प्रभारी अमित कोरी ने बताया भाम नदी में करीब आठ दिन पुराना शव मिला है। शव क्षत-विक्षत हालत में है और चेहरा पूरी तरह जलीय जीवों ने नोंच लिया है। इस कारण मृतक की पहचान नहीं हो सकी। मृतक की पहचान के लिए परिजन की तलाश की जा रही है। परिजन के मिलने के बाद मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी।

सर्पदंश से बालिका की मौत

खंडवा. नर्मदानगर थाना क्षेत्र में सर्पदंश से बालिका की मौत हुई है। सावित्री मानकर (12) निवासी झोपड़पट्टी नर्मदानगर
रात करीब 11 बजे घर के बाहर आई। तभी सांप ने डस लिया। परिजन ने उसे तत्काल स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। लेकिन उपचार के दौरान सावित्री की मौत हो गई। सूचना पर पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर लिया है।