स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

डेंजर जोन- इस हाईवे पर हादसा तय, खतरनाक हैं 31 स्पॉट

deepak deewan

Publish: Oct 22, 2019 17:45 PM | Updated: Oct 22, 2019 17:45 PM

Khandwa

हाईवे पर हादसा तय,

खरगोन. जिले में 31 स्पॉट ऐसे हैं जहां कुछ समय से लगातार हादसे हो रहे हैं। इनमें इंदौर-इच्छापुर हाइवे डेंजर जोन में है। यहां सबसे ज्यादा सड़क दुर्घटनाएं होती है और इनमें असमय ही लोग अपनी जान गंवाते हैं। ऐसे स्पॉट को जिला प्रशासन से चिन्हित किया है। यहां सुरक्षा के दायरे बढ़ाए जाएंगे। सोमवार को इस मुद्दे पर स्वामी विवेकानंद सभागृह में हुई जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में अफसरों व जनप्रतिनिधियों ने मंथन किया। अध्यक्षता सांसद गजेंंद्र पटेल ने की। विधायक रवि जोशी भी मौजूद थे।
आरटीओ शैलेंद्र निगम ने कहा- मोटरयान अधिनियम के अंतर्गत 13 बिंदु तय है। इन सभी बिंदुओं पर विचार करते हुए निर्णय करना है। सांसद पटेल ने कहा दुर्घटनाओं को रोकने की जवाबदारी हमारी है। पालन हम सभी को कराना है। बैठक में महत्वपूर्ण रूप से जिले के 31 ऐसे यातायात स्थानों पर चर्चा की गई, जहां अत्यधिक दुर्घटनाएं होती हंै। इन 31 ब्लैक स्पॉट को बैठक में मौजूद सभी ने बारी-बारी सुना। इन स्थानों पर दुर्घटनाओं को रोकने के विकल्प तलाशे गए। इस पर चर्चा के बाद आरटीओ व संबंधित विभागों को निर्देश दिए गए। अब इन स्थानों पर व्यवस्थित रूप से स्पीड ब्रेकर बनाए जाएंगे। उन सभी हाइवे पर मिलने वाले एप्रोच मार्ग व फाटो पर स्टेंडर्ड आकार के स्पीड ब्रेकर लगेंगे। जनप्रतिनिधियों ने कहा- जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक नियमित होगी। निर्णयों की समीक्षा करेंगे, धरातल पर जाकर भी देखेंगे। अगली बैठक 24 दिसंबर को होगी।

ओव्हरलोडिंग वाहनों पर सघन कार्रवाई होगी।
चौराहों का विकास होगा, यातायात सिग्नल लगेंगे।
प्रदूषण रोकने के लिए पेट्रोल पंपों पर जांच प्रदूषण केंद्र खोलेंगे।
दुर्घटनाओं को रोकने के लिए हेलमेट की अनिवार्यता।
शहर में यातायात व्यवस्था में सुधार तथा पार्किंग स्थलों का चिन्हांकन होगा।
अवैध वाहनों का संचालन रोकने समिति गठित कर कार्रवाई करेंगे।