स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

क्लीनिक में घुसकर महिला डॉक्टर पर चाकू से हमला करने वाले आरोपी हैदरअली को सजा

Jitendra Tiwari

Publish: Dec 13, 2019 12:22 PM | Updated: Dec 13, 2019 12:22 PM

Khandwa

क्लीनिक में घुसकर महिला डॉक्टर पर चाकू से हमला करने वाले को पांच वर्ष की कैद

शास्त्री नगर की 13 माह पुरानी वारदात में आया फैसला

खंडवा. क्लीनिक में घुसकर महिला डॉक्टर पर चाकू से हमला करने के मामले में गुरुवार को अदालत ने फैसला सुनाया। वारदात 30 अक्टूबर 2018 शास्त्री नगर की है। जिला एवं सत्र न्यायाधीश एलडी बौरासी ने प्रकरण में सुनवाई करते हुए आरोपी हैदर अली पिता नूर मोहम्मद (27) निवासी कहारवाड़ी को पांच वर्ष के सश्रम कारावास और दस हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई। शासन की ओर से प्रकरण में पैरवी उप संचालक अभियोजन एमएल मोरे ने की। मीडिया सेल प्रभारी एडीपीओ जाहिद खान ने बताया 30 अक्टूबर 2018 की शाम डॉ. गरिमा अग्रवाल निवासी शास्त्री नगर स्थित क्लीनिक पर मरीजों का इलाज कर रही थी। शाम करीब 4 बजे आरोपी हैदरअली पहुंचा और घर के बाहर कुर्सी पर बैठ गया। शाम 6:35 बजे सभी मरीजों के जाने के बाद आरोपी कैबिन में पहुंचा और डॉ. गरिमा से बोला मेरे बेटे की जांच रिपोर्ट लेकर आया हूं। उसको दवाइयां लिख दो। डॉक्टर ने मरीज को देखे बगैर दवाइयां लिखने से इनकार कर दिया। इसी बात पर आरोपी हैदरअली ने जेब से चाकू निकाला और हमला कर दिया। चाकू लगने से डॉक्टर गरिमा गंभीर घायल हुई। चिल्लाने की आवाज सुन डॉक्टर की मां चारू अग्रवाल मौके पर पहुंची और बेटी को बचाने की कोशिश की। इस दौरान आरोपी ने चारू अग्रवाल पर भी चाकू से मारपीट की। घटना में डॉक्टर बेटी और मां घायल हुए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया। मोघट पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 307 सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज किया।

[MORE_ADVERTISE1]

नाबालिग से बलात्कार के आरोपी को दस वर्ष की कैद

खंडवा. हरसूद थाना क्षेत्र के बलात्कार मामले में गुरुवार को न्यायालय ने सजा सुनाई। विशेष न्यायाधीश पॉक्सो एक्ट न्यायालय हरसूद की कोर्ट ने प्रकरण में सुनवाई करते हुए आरोपी पवन पिता सुरेश (22) निवासी छोटी हरदा को दस वर्ष के कारावास और तीन हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई। शासन की ओर से पैरवी एडीपीओ महेंद्र कुमार भानुप्रिय ने की। मीडिया सेल प्रभारी एडीपीओ मो. जाहिद खान ने बताया 28 जुलाई 2018 को पीडि़ता हरसूद थाने शिकायत दर्ज कराने पहुंची। पीडि़ता ने बताया 27 जुलाई को उसका परिचित पवन घर आया। इसी दिन पिता बकरी चराने खेत चले गए। मां गाव में मोबाइल चार्जिंग पर लगाने गई थी। पीडि़ता घर में अकेली थी, तभी आरोपी पवन आया और हाथ पकड़कर कमरे में ले गया। चिल्लाने की कोशिश की तो मुंह में कपड़ा ठूंसकर बलात्कार किया। इसी दौरान मां घर आ गई। मां को देख आरोपी भाग निकला। परिजन ने पीडि़ता के साथ हरसूद थाने पहुंचकर पवन के खिलाफ बलात्कार का प्रकरण दर्ज कराया था।

[MORE_ADVERTISE2]