स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सादिया हत्याकांड के फरियादी को मिला धमकी भरा पत्र, सुरक्षा मांगी

Jitendra Tiwari

Publish: Aug 20, 2019 07:01 AM | Updated: Aug 20, 2019 00:37 AM

Khandwa

पत्र को लेकर घबराया परिवार, एसपी कार्यालय पहुंचकर की शिकायत

17 अगस्त की सुबह करीब 8 बजे बरामदे में दस पेज का धमकी भरा पत्र मिला।

खंडवा. शहर के बहुचर्चित सादिया हत्याकांड मामले में नया मोड़ आया है। मामले के फरियादी को धमकी भरा पत्र मिला है। इसके बाद से पूरा परिवार डरा-सहमा हुआ है। उन्होंने पत्र के संबंध में एसपी कार्यालय पहुंचकर शिकायत की। साथ ही परिवार की सुरक्षा की मांग की है। जानकारी के अनुसार 24 अप्रैल 2018 को सादिया को ससुराल पक्ष द्वारा जिंदा जलाकर मारने के मामले में निजामुद्दीन शाकीर (68) निवासी गुलमोहर कॉलोनी ने पुलिस थाने में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराई थी। वहीं प्रकरण में वह और उनकी पत्नी साक्षी है। इसी के चलते उन्हें धमकी मिल रही है। उन्होंने बताया 17 अगस्त की सुबह करीब 8 बजे बरामदे में दस पेज का धमकी भरा पत्र मिला। जिसमें नातिन सादिया हत्याकांड को लेकर धमकी दी गई है। उन्होंने बताया प्रकरण के आरोपी मोईनुद्दीन की जमानत 14 अगस्त को उच्च न्यायालय जबलपुर द्वारा मामले की गंभीरता को देखते हुए निरस्त कर दी थी। इसी द्वेश को लेकर आरोपियों के परिजन धमकी दे रहे हैं। निजामुद्दीन शाकीर ने पुलिस से परिवार को सुरक्षा दिलाने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

बेटा डॉक्टर, उसे भी मारने की धमकी
शिकायतकर्ता ने कहा मेरा एक ही बेटा है। वह शहर के निजी अस्पताल में डॉक्टर है। उसे भी जान से मारने की धमकी दी जा रही है। उन्होंने कहा प्रकरण के शेष आरोपीगण अपनी जमानत का दुरुपयोग कर साक्षियों को डराने का प्रयास कर रहे हैं। इसके पूर्व भी आरोपियों के परिजन ने मौखिक रूप से मामले में राजीनामा करने के लिए दबाव बनाया था। लेकिन मामला न्यायालय में लंबित होने के कारण राजीनामा नहीं हो सका।

 

धमकी पत्र में ये लिखा...
शाकीर साहब बोलते न तुझे एक बात सुन ले जो तुझे करना था तूने कर लिया। लेकिन अब हमारी बारी और तेरा तो एक ही अब तेरी उल्टी गिनती शुरू हो गई है। इसके पहले भी तो मार खाया था तूने और सबको खरीद लिया हमने और तेरे सब अपने ही बिक गए हैं। सिर्फ जमानत तक रूक जा तू फिर देखना, जितना हमारे साथ हुआ ना उतना तेरे साथ होगा। आज से दिन गिन लेना।

यह था पूरा मामला
24 अप्रैल 2018 को सोलह खोली क्षेत्र में सादिया बी का शव बाथरूम में जला हुआ मिला था। ससुराल पक्ष ने मामले को आत्महत्या बताया था। लेकिन बड़वानी के अंजड़ से आए सादिया के मायके पक्ष के लोगों ने बेटी के ससुराल पक्ष हत्या का आरोप लगाया था। इसी प्रकरण में पुलिस ने जांच करते हुए सादिया के पति मोइनुद्दीन, ससुर, सास, ननद, जेठ के खिलाफ हत्या का प्रकरण दर्ज किया था। इसी मामले में चश्मदीद गवाह बने मृतका के तीन वर्षीय बेटे ने न्यायालय में गवाही दी है।