स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बैंक कैशियर को घर में लुटेरों ने सिर पर मारी रॉड, पत्नी से झूमाझटकी कर लूटपाट, फिर जो हुआ देखकर रह गए दंग

Jitendra Tiwari

Publish: Dec 10, 2019 19:19 PM | Updated: Dec 10, 2019 19:19 PM

Khandwa

नारायण नगर में रविवार रात 2 से 2.30 बजे के बीच लुटेरों ने पीएनबी के हेड कैशियर को रॉड से पीटकर घर में लूटपाट की। लुटेरों ने कैशियर की पत्नी से पहले गहने मांगे, नहीं देने पर झूमाझटकी कर सोने की चैन और कंगन छीन लिए।

 

खंडवा. नारायण नगर में लुटेरों ने पीएनबी के हेड कैशियर के घर में लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया। लुटेरों ने कैशियर से मारपीट और उनकी पत्नी से झूमाझटकी कर गहने व नकदी ले भागे। वारदात रविवार रात करीब 2 से 2.30 बजे के बीच की बताई जा रही है। निगम चौक स्थित पंजाब नेशनल बैंक शाखा (Punjab National Bank Nagar Nigam Khandwa) में पदस्थ हेड कैशियर जगदीश वानखेड़े (58) निवासी नारायण नगर और शिक्षिका पत्नी अलका वानखेड़े (54) रूम में सोये थे। वहीं सिविल लाइन स्थित पीएनबी शाखा में रिकॉर्ड कीपर पद पर कार्य कर रहा बेटा शुभम वानखेड़े अपने बैंक सहकर्मी अनमोल गुप्ता के साथ दूसरे रूम में था। इसी दौरान रात करीब 2 बजे तीन नाकाबपोश लुटेरे बाउंड्रीवाल फांद कर घर में घुसे। सीसीटीवी कैमरा देख उस पर कपड़ा डाल दिया और पीछे के दरवाजे की कुंडी पत्थर व रॉड से तोड़ दी। अंदर पहुंचकर शुभम के कमरे को बाहर से बंद कर हेड कैशियर के रूम में पहुंच गए। लुटेरों ने सो रहे जगदीश वानखेड़े को जगाया और पूछा नकद व गहने कहां रखे हैं। स्थिति देखकर उन्होंने चिल्लाने की कोशिश की तो लुटेरों ने सिर पर रॉड दे मारी। इससे वह खून से लथपथ हो गए। आवाज सुन बाजू में सो रही पत्नी अलका जाग गई। लुटेरों ने उन्हें चुप रहने का बोला और गले, हाथ में पहने गहने देने का कहने लगे। आनाकानी करने पर झूमाझटकी कर गले से चेन, हाथ से अंगूठी व कंगन छीन लिए। वहीं अलमारी में रखे नकद व अन्य जेवरात लेकर फरार हो गए।
बोले-कैश और जेवरात कहां रखे हैं बता दो

अलका वानखेड़े ने बताया जैसे ही आंख खुली तो लुटेरों ने कहां शांत रहना। जल्दी बता दो कैश और गहने कहां रखे हैं। मैंने कहा हम बैंक वाले हैं घर में नकद नहीं रखते हैं तो उन्होंने अलमारी की चॉबी मांगी तो उनसे कहा अलमारी खुली है। हमें कुछ मत करना जो चाहिए हो लेकर जाओ। लुटेरे अलमारी में रखे सोने-चांदी के गहने, नकद और मेरे और पति के गले से चेन व हाथ से अंगूठी, कंगन और नकदी तीन लाख रुपए ले गए। जाते समय वह कमरे का दरवाजा बाहर से बंद कर गए और दो मोबाइल भी साथ ले भागे। करीब दस मिनट तक लुटेरों ने घर में लूटपाट की। पूर्व में भी हेड कैशियर के घर में चोरी की वारदात हो चुकी है।

[MORE_ADVERTISE1]khandwa robbery - Bank employee robbery case
IMAGE CREDIT: patrika
[MORE_ADVERTISE2]

दूसरा दरवाजा खोला, कूलर से कूदकर बाहर निकली

लुटेरों के जाने के बाद कमरे में जगदीश घायल अवस्था में बदहवास थे। पत्नी ने आवाज लगाई, लेकिन किसी ने नहीं सुनी। उन्होंने कमरे का दूसरा दरवाजा जैसे-तैसे खोला और गेट पर रखे कूलर से कूदकर बाहर पहुंची। खिड़की से बेटे शुभम को जगाया। बेटे ने देखा तो कमरा बाहर से लॉक था। इसके बाद जिस रास्ते से लुटेरे घर में घुसे उसी दरवाजे से अंदर पहुंची और बेटे का रूम खोला। आवाज लगाई तो पड़ोसी आ गए। तुरंत घायल जगदीश को अस्पताल में भर्ती कराया और कोतवाली पुलिस को वारदात की खबर दी।

[MORE_ADVERTISE3]

मुंह पर था काला कपड़ा, कैमरे मिले बंद
वारदात के दौरान तीनों लुटेरों ने मुंह पर काला कपड़ा बांध रखा था। वहीं घर की लाइट बंद रखी। टॉर्ज के उजाले में वारदात को अंजाम दिया। घटनाक्रम के बाद आरोपी भागे, लेकिन कुछ देर बाद वापस वारदात स्थल की ओर आए थे। आसपास के लोगों ने संदिग्धों को क्षेत्र में देखा। आरोपी वारदात के दौरान शुद्ध हिंदी और खंडवा की भाषा बोल रहे थे। उनकी उम्र करीब 30 से 32 वर्ष के बीच थी। इधर, हेड कैशियर के घर में आठ सीसीटीवी कैमरे (captured live in CCTV camera) लगे हैं लेकिन कैमरे करीब तीन माह से बंद पड़े हैं। लुटेरों ने पड़ोसी के घर की भी खिड़की खोली थी। पड़ोसी के कैमरे भी कुछ दिनों से बंद हैं।

डॉग स्क्वॉड से जांच, मोबाइल लोकेशन खंगाली
वारदात की सूचना मिलते ही सीएसपी ललित गठरे और कोतवाली टीआइ बीएल मंडलोई टीम के साथ मौके पर पहुंचे। मामले की जानकारी ली। तुरंत डॉग स्क्वॉड और एफएसएल टीम को बुलाया गया। डॉग स्क्वॉड से लुटेरों के सुराग जुटाए है। हालांकि पुलिस का डॉग कुछ ही दूर जाकर रुक गया। वहीं एफएसएल अधिकारी मौके से लुटेरों के फिंगर प्रिंट मिले हैं। मामले में साइबर सेल की टीम लुटेरों की मोबाइल लोकेशन तलाश रही है। इधर, फरियादी की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने लूट का प्रकरण दर्ज कर लिया है।

कॉलोनी में ज्यादातर कैमरे बंद मिले। एक स्थान पर कैमरे चालू थे। फुटेज खंगाले है। उसमें लुटेरे स्पष्ट नजर नहीं आ रहे। कॉलोनी के पीछे से खेतों के रास्ते रेलवे ट्रैक की ओर भागने की संभावना है। साइबर टीम आरोपियों सहित लूट में गए मोबाइल की लोकेशन ट्रेस कर रही है। जल्द आरोपियों को गिरफ्तार करेंगे।

ललित गठरे, सीएसपी, खंडवा