स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आरक्षक की मौत, पुलिसकर्मियों ने निजी अस्पताल में डॉक्टर को पीटा

Rajiv Jain

Publish: Jul 19, 2019 04:40 AM | Updated: Jul 19, 2019 04:50 AM

Khandwa

रात 11 बजे मोहम्मदपुरा स्थित निजी अस्पताल में पहुंचे पुलिसकर्मियों का हंगामा

बुरहानपुर. कोतवाली थाने में पदस्थ आरक्षक जितेन्द्र नरवरिया की गुरुवार रात करीब 11 बजे संदिग्ध मौत हो गई। पुलिस जवानों के द्वारा आरक्षक को पुलिस वाहन में उपचार के लिए मोहम्मदपुरा स्थित निजी अस्पताल में लाया गया। डॉक्टर ने आरक्षक को मृत घोषित कर पीएम के लिए जिला अस्पताल भेजने की बात कही। कुछ समय के बाद बड़ी संख्या में पुलिस जवान भी निजी अस्पताल पहुंचे। यहां अस्पताल के स्टाफ पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए मारपीट शुरू कर दी। अस्पताल के डॉक्टर हासिम, डॉ मधुकर महाजन सहित अन्य कर्मचारियों के साथ मारपीट की गई। घटना की जानकारी मिलते ही एडिशनल एसपी सुनील पाटीदार, विनोद रंधावा, लाल बाग थाना प्रभारी विक्रम सिंह बामनिया अस्पताल पहुंचे।

अस्पताल के स्टाफ ने लगाए आरोप
अस्पताल की महिला कर्मचारी रंजीता काले ने पुलिस जवानों पर आरोप लगाते हुए बताया कि 10 से अधिक पुलिसकर्मियों द्वारा अस्पताल में हंगामा किया गया। ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर और कर्मचारियों के साथ मारपीट की गई है। हमारे द्वारा बचाव भी किया गया। मारपीट के वीडियो सीसीटीवी फुटेज में देखे जा सकते हैंं। महिला कर्मी ने बताया कि घटना के बाद से अस्पताल के स्टॉफ में दहशत का माहौल है।