स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जुर्माने का डर , लाइसेंस बनवाने की लगी भीड़

dharmendra diwan

Publish: Sep 21, 2019 11:49 AM | Updated: Sep 21, 2019 11:49 AM

Khandwa

ऑनलाइन आवेदन कर बचा सकते है 2000

खंडवा. मप्र को छोड़कर देश के कई राज्यों में ट्रैफिक के नए नियम लागू हो चुके हैं। नए प्रावधान में जुर्माने के राशि अधिक है। यह नियम भलेई मप्र में लागू नहीं हुआ है। लेकिन नए नियम में बढ़ी जुर्माने की राशि का डर लोगों में बढ़ रहा है। लोग ट्रैफिक नियम पर चलने के लिए विशेष ध्यान देना आवश्यक मान रहे। साथ ही प्रदेश में किसी भी परिवहन विभाग के दफ्तर से लाइसेंस बनाने की सुविधा शुरू हो चुकी है। जिससे लाइसेंस बनवाने के प्रति लोगों में जागरुकता बढ़ रही है। जिसका अंदाजा एआरटीओ दफ्तर खंडवा में लर्निंग, ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने वालों की संख्या से लगा सकते है। एआरटीओ ऑफिस में जहां पहले 25-30 लर्निंग लाइसेंस (एलएल) प्रतिदिन बनने थे। यह संख्या अब बढ़कर 50-55 पर पहुंच गई है। इसी प्रकार ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) बनवाने की संख्या में भी इजाफा हुआ है। हर माह एलएल और डीएल की औसत संख्या 700-700 रहती थी। जो बढ़कर सितंबर माह की 20 तारीख तक में केवल लर्निंग लाइसेंस की संख्या 1100 से ऊपर पहुंच गई है। वहीं एआरटीओ परिसर में एजेंट भी ज्यादा सक्रिय हो गए है। जो लोगों से मनमाने तरह से रुपए वसूली का काम कर रहे।

नए नियम में यह जुर्माने के प्रावधान
बिना सीट बेल्ट : 1000
बाइक पर दो से अधिक सवारी बैठाने पर : 1000
बगैर हेलमेट : 1000
डीएल नहीं चलाने पर: 5000
डीएल रद्द होने पर: 10000
खतरनाक ड्राइविंग : 5000
शराब पीकर : 10000
मोबाइल पर बात करते समय ड्राइविंग करने में : 5000
बिना बीमा: 2000

इसलिए बढ़ रही लाइसेंस के प्रति रुचि
-नए ट्रैफिक नियम में धाराएं सख्त और जुर्माने की राशि कई गुना अधिक है
-आवेदक अब किसी भी जिले के परिवहन दफ्तर में ऑनलाइन कर लाइसेंस बनवा सकता है

7 माह में कब-कितने लाइसेंस
मार्च 547 880
अप्रैल 610 675
मई 595 783
जून 772 784
जुलाई 832 1080
अगस्त 732 813
20 सि. तक 1150 620
कुल 5238 5635

कियोस्क और घर बैठे ऑनलाइन करें
आवेदन लर्निंग लाइसेंस (एलएल) और ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) के लिए आप किसी भी एजेंट या दलाल के चक्कर में न पड़े। आप स्वयं ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए घर बैठे लैपटॉप, कम्प्यूटर या एमपी ऑनलाइन कियोस्क पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करें। लार्निंग के लिए 200 रुपए, 350 व डीएल के लिए 7000, 1000 रुपए शुल्क ही देना पड़ेगा। ऑनलाइन आवेदन करने से आप दलाल या एजेंट को अतिरिक्त 2500 से 3000 रुपए तक देने से बचेंगे।

शराब पीकर गाड़ी चलाने वाले 24 प्रकरण बने
एक सितंबर से यातायात पुलिस द्वारा विशेष अभियान चलाया जा रहा है। यातायात डीएसपी ने बताया एक सितंबर से 17 सितंबर तक शराब पीकर वाहन चलाने वाले 24 प्रकरण बनाए गए है। जिन्हें केस कोर्ट में पेडिंग है।
सितंबर में दो गुना बढ़ी भीड़

ट्रैफिक नियम में जुर्माने का नया प्रावधान फिलहाल लागू नहीं हुआ है। लेकिन उस नए प्रावधान में जुर्माने की फीस ज्यादा है। साथ ही अब प्रदेश में किसी भी व्यक्ति अपना लाइसेंस बनवा सकते हंै। दो नए कारण की वजह से लाइसेंस के आवेदनों की संख्या में इजाफा हुआ है। पिछले महीने की अपेक्षा सितंबर माह में संख्या दो गुना तक बढ़ गई। आवेदकों को लर्निंग लाइसेंस उसी दिन या दूसरे दिन दिए जा रहे हैं।
जगदीश बिल्लौरे, एआरटीओ, खंडवा।