स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हनुवंतिया में फौजी के भाई से मारपीट, भड़के लोगों ने पुलिस थाना घेरा

Jitendra Tiwari

Publish: Aug 20, 2019 01:10 AM | Updated: Aug 20, 2019 01:10 AM

Khandwa

हनुवंतिया का मामला, बच्चे की दूध बोतल अंदर ले जाने की बात पर हुआ था विवाद, घायल को आंख में आई गंभीर चोट, टीआई ने मामले की जांच कर कार्रवाई का दिया आश्वासन

 

खंडवा. हनुवंतिया में सुरक्षा गॉर्ड द्वारा पर्यटक फौजी के भाई के साथ की गई मारपीट के विरोध में रविवार को नगरवासियों ने पुलिस थाने का घेराव किया। रैली के रूप में जमा होकर लोग थाने पहुंचे और सुरक्षा गॉर्ड पर कार्रवाई की मांग की। इस दौरान करीब एक घंटे तक जनप्रतिनिधियों सहित नगरवासी थाना परिसर में डटे रहे। लोगों का विरोध देख टीआई ने मामले की जांच कर जल्द दोषियों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया। इसके बाद भीड़ वापस घरों के लिए रवाना हुई। जानकारी के अनुसार कश्मीर में थल सेना में पदस्थ फौजी अमित सिंह के भाई अतुलसिंह निवासी तालाब मोहल्ला (मूंदी) 16 अगस्त को परिवार के साथ हनुंवतिया पहुंचे थे। जहां बच्चों की दूध बोतल अंदर ले जाने से सुरक्षा गॉर्ड ने रोका। इस बात पर कहासुनी शुरू हुई। तभी सुरक्षा गॉर्ड ने अपने साथियों को बुलाकर अतुल सिंह और आशीष के साथ मारपीट की। मारपीट में अतुल की आंख में गंभीर चोट आई है। उन्हें इंदौर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामले की जानकारी नगरवासियों को लगी तो लोग भड़क उठे। जिसके बाद देखते ही देखते लोग जमा होने लगे। लोग रैली के रूप में थाने पहुंचे और कार्रवाई की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया।

हनुवंतिया में पर्यटकों के साथ हो रही गुंडागर्दी

हंगामा होते देख टीआई अंतिम पंवार पहुंचे और लोगों से बात की। लोगों ने घटनाक्रम की जानकारी देकर कार्रवाई की मांग की। साथ ही कहा हनुवंतिया में आए दिन पर्यटकों के साथ सुरक्षा गॉर्डस द्वारा गुंडागर्दी करते हुए मारपीट की जा रही है। दूध की बोतल की बात पर फौजी के भाई को सामूहिक रूप से पीटा गया। ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होना चाहिए। साथ ही ज्ञापन सौंपा। लोगों का आक्रोश देख टीआई पंवार ने कहा मामले की मैं खुद जांच करूंगा। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान उत्तमपाल सिंह, नारायण सिंह तोमर, दीपक पटेल, नप अध्यक्ष संतोष राठौर, दिनेश मालवीय, लक्ष्मणसिंह पटेल, तापी सेठ, गनी साहब सहित बड़ी संख्या में नगरवासी मौजूद थे।
यह था पूरा मामला

16 अगस्त को अतुल सिंह परिवार के साथ हनुवंतिया पर्यटन केंद्र पहुंचे थे। उनके साथ महिलाएं और छह व नौ माह के दो बच्चें भी थे। बच्चों की दूध की बोतल अंदर ले जाते समय सुरक्षा गॉर्ड ने अतुल को रोक लिया। इसी बात पर कहासुनी हुई। तभी सुरक्षा गार्ड ने साथियों को बुलाया और अतुल व आशीष पर हमला कर दिया। 20 से अधिक लोगों ने दोनों के साथ मारपीट की। बीचबचाव करने पहुंची महिलाओं से अभद्रता की गई। मामला पुलिस थाने पहुंचा था। जहां दोनों पक्षों की शिकायत पर प्रकरण दर्ज किया गया था।