स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

77 हजार 23 किसानों को ऋणमाफी का इंतजार

dharmendra diwan

Publish: Aug 20, 2019 12:34 PM | Updated: Aug 20, 2019 12:34 PM

Khandwa

खंडवा। कांग्रेस पार्टी को प्रदेश में वापसी दिलाने में वरदान साबित हुई किसान कर्ज माफी योजना अब अधर में है। लोकसभा चुनाव के एक माह बाद राय सरकार ने जय किसान ऋण माफी योजना के दूसरे चरण के नए-निर्देश जारी किए थे। इसके बाद भी अब तक दूसरा चरण शुरू नहीं हो पाया है।

 

खंडवा। कांग्रेस पार्टी को प्रदेश में वापसी दिलाने में वरदान साबित हुई किसान कर्ज माफी योजना अब अधर में है। लोकसभा चुनाव के एक माह बाद राय सरकार ने जय किसान ऋण माफी योजना के दूसरे चरण के नए-निर्देश जारी किए थे। इसके बाद भी अब तक दूसरा चरण शुरू नहीं हो पाया है। जिले के 77023 किसानों को कर्जमाफी का इंतजार है। किसान कर्ज माफी को लेकर कांग्रेस पार्टी द्वारा किए वादे से अब खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं।
जय किसान कर्ज माफी योजना के दूसरे चरण के लिए राÓय सरकार ने सरकार ने 27 जून 2019 को नियम जारी किए। सरकार ने कर्ज माफी के दूसरे चरण में नई शर्त जोड़ी है। नई शर्त अनुसार अब एक आधार से एक ही पीए/एनपीए खाते का कर्ज माफ होगा। इसमें ऐसे किसान जिनका दो लाख रुपए तक का कर्ज एक से अधिक अकांउट है। उनका पूरा कर्जा माफ नहीं होगा। पहले चरण में किसानों के जितने भी लोन खाते थे सभी प्रोसेस हो रहे थे और उनका कर्ज माफ भी हुआ। इसलिए सरकार ने किसान के एक ही खाते का ऋण माफ करने की शर्त को जोड़ा है। विधानसभा चुनाव पूर्व प्रदेश में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस पार्टी ने चुनावी पत्र में दस दिन में कर्ज माफी का वादा किया था।

 

40 फीसदी किसानों का ही कर्ज माफ हुआ
जय किसान कर्ज माफी योजना अनुसार 1 अप्रैल 2017 से 31 मार्च 2018 तक वालेचालू खाते के लिए ऋणी किसान व 1 अप्रैल 2007 से 31 मार्च 2018 तक वाले कालातीत खाते वाले ऋणी किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा। योजना में जिले से 1 लाख 21,267 ऋणी किसान शामिल थे। पहले चरण में 40 फीसदी यानी 45885 किसानों का ही कर्जा माफ हुआ। 77023 किसानों को भी अब भी कर्ज माफी का इंतजार है। प्रदेश सरकार की लेटलतीफी के चक्कर में कर्जा माफ नहीं होने से अ'छे किसानों की बैंक साख भी खराब हो रही। जिससे उन्हें भविष्य में कृषि लोन लेने के लिए भारी परेशानी भुगतना पड़ सकता है।

पहले चरण में 45885 किसान शामिल
ऋण माफी योजना में पहले चरण में 45885 किसानों को शामिल किया। इसमें चालू खाते (पीए) 20 हजार 578 किसानों को 54 करोड़ 65 लाख रुपए का खाते में भुगतान किया। 25307 डिफाल्टर किसानों के एनपीए खातों को नोडयूज वितरित किए। ऋण माफ होने के बाद इन किसानों को अब राहत है।
दूसरे चरण मेंएक लाख रु. तक कर्ज माफ
योजना के दूसरे चरण में पीए (चालू खाता) वाले 50 हजार से एक लाख रु. वाले कर्जदार किसानों ऋण माफ होगा। पहले चरण में चालू खाता वाले 50 हजार रु. कर्जदार किसानों को शामिल कर कर्ज माफ किया। दूसरे चरण में 2 लाख रु. तक वे कालातीत खाते (एनपीए) भी स्वीकृत किए जाएंगे। जो पूर्व में स्वीकृत नहीं हुए।